पत्नी ने जिस प्रेमी के लिए करा दी अपने पति की हत्या, वही प्रेमी अब शादी से किया इंकार

पटना, एमएम : कहते हैं प्यार ना जात देखता है और ना ही धर्म। ना उम्र देखता है और ना ही धन। प्यार के आगोश में ना जाने किन किन सरहदों को लोग पार कर जाते हैं। अपनी सीमा तक भूल जाते हैं। इस प्यार के चक्कर में ना जाने कितनों का जान तक ले लिया है। एक ऐसा ही वाक्या बाढ़ के अगवानपुर से सामने आया है। खुद से कम उम्र के लड़के से शादी करने के लिए पति की हत्या कराने की आरोपित महिला शोभा देवी और उसके प्रेमी के बीच बाढ़ थाने में ही झगड़ा हो गया। हत्या की साजिश में शामिल गोलू उर्फ सन्नी ने शोभा के साथ अब शादी करने से इनकार कर दिया। यह जवाब सुनते वह बोली कि अगर गोलू उससे शादी नहीं करेगा तो वह उसके घर के पास जाकर जान दे देगी।

बाढ़ के शहरी पावर ग्रिड के गार्ड पंकज कुमार गुप्ता की हत्या के मामले में हाईवोल्टेज ड्रामे को लेकर थाने के पुलिसकर्मी भी परेशान रहे। पुलिस गिरफ्त में आने के बाद प्रेमी गोलू का मूड भी बदल गया था। उसने शोभा से बात करने तक से इनकार कर दिया। दूसरी ओर बाढ़ थानेदार संजीत कुमार ने देर रात तक सभी आरोपितों से पूछताछ की। इसके बाद मंगलवार की सुबह कोर्ट में पेश करने के बाद सभी को जेल भेज दिया। बतादें कि घटना के दिन कांट्रैक्ट किलर आयुष की बाइक को चलाने वाला अपराधी अब तक हाथ नहीं आया है।  एडिशनल एसपी बाढ़ अंबरीश राहुल ने बताया कि उसकी तलाश में संभावित ठिकानों पर छापेमारी की जा रही है। जल्द ही उसे पकड़ लिया जाएगा।

जानकारी के मुताबिक प्रेमी से शादी करने की खातिर शोभा ने सवा तीन लाख रुपये की सुपारी देकर आठ जुलाई को अपने पति की हत्या करा दी थी। घटना बाढ़ थानांतर्गत शहरी बाजार समिति के गेट के सामने हुई थी। बिजली पावर ग्रिड के कर्मी पंकज कुमार गुप्ता की हत्या में शामिल उसकी पत्नी शोभा देवी, उसका प्रेमी व अगवानपुर निवासी गोलू उर्फ सन्नी, शोभा के अपने भाई मुकेश, साजिश में शामिल मनीष, मोहित, कांट्रैक्ट किलर आयुष राज) और राजा सिंह को गिरफ्तार कर लिया। अपराधियों से घटना में इस्तेमाल बाइक, दो गोलियां, दो लाख रुपये, पासबुक और ब्लैंक चेक मिले थे।

दरअसल पति की हत्या के लिए शोभा ने किलर को हस्ताक्षर किया ब्लैंक चेक दिया था। सबसे पहले अपराधी राजा सिंह ने 50 हजार एडवांस मागे। झुमका बेचकर शोभा ने उसे 45 हजार रुपये दिये। इसके बाद किलर आयुष ने तीन लाख मांगे। शोभा ने कहा कि वह एडवांस 45 हजार राजा को दे चुकी है। इसके बाद रुपये काम होने पर मिलेंगे। किलर को भरोसा दिलाने को उसने एक ब्लैंक चेक दे दिया। घटना के दूसरे दिन शोभा भाई मुकेश के साथ बैंक गई और रुपये निकालकर आयुष को दे दिये। उधर,आरोपित ने पुलिस को बताया कि यह उसकी पहली वारदात है। शौक को पूरा करने को हत्या की थी, ताकि कुछ रुपये मिल सके।

पंकज ने शोभा और गोलू को घंटों फोन पर बातें करते सुन लिया था। यही नहीं, शोभा ने हाथ पर गोलू के नाम का टैटू बनवा रखा था। इसको लेकर पंकज ने एक दिन शोभा को पीटा भी था। यह बात शोभा ने अपने प्रेमी गोलू को बता दी। फिर दोनों ने पंकज को रास्ते से हटा देने की साजिश रच डाली।

बतादें कि एक फिजियोथेरेपी सेंटर पर जाने के दौरान गोलू और शोभा में प्रेम हुआ था। शोभा अपने बच्चे को लेकर वहां जाती थी, जबकि गोलू एक परिजन के इलाज को वहां जाता था। शुरुआत में दोनों के बीच मोबाइल पर बातचीत हुई फिर वे एक-दूसरे से मिलने लगे। कई बार शोभा प्रेमी गोलू के साथ पटना घूमने भी आई थी। एक साल से दोनों में प्रेम-प्रसंग था।

Leave a Reply