बिहार और झारखंड के डाकघरों में भी अब बिकेंगे मिथिला पेंटिंग बने हुए मॉस्क, स्थानीय कलाकारों से की जाएगी करार

पटना, एमएम : मिथिला पेंटिंग बने हुए मास्क का डिमांड अब रफ़्तार पकड़ने लगा है। आलम यह है कि अब देश और देश के बाहर के लोग भी इसकी चाहत रखने लगे हैं। इसी सबको देखते हुए बिहार एवं झारखंड के डाकघरों में मिथिला पेंटिंग युक्त मॉस्क बिकेंगे। डाक विभाग बिहार परिमंडल ने इसकी तैयारी कर ली है और करीब दो लाख मॉस्क की खरीदारी होगी। डाक विभाग ने मधुबनी के स्थानीय कलाकारों से पेंटिंग युक्त मॉस्क का नमूना मांगा है।

मिली जानकारी के मुताबिक सोमवार को मधुबनी के लगभग 200 कलाकार मिथिला पेंटिंग से युक्त मॉस्क डाक विभाग को देंगे। अगर यह मॉस्क विभाग को पसंद आ गया तो इसके बाद थोक मॉस्क खरीदारी का आर्डर दिया जाएगा। 15 अगस्त के पहले ही डाकघरों में मिथिला पेंटिंग युक्त मॉस्क की बिक्री शुरू हो जाएगी। मिथिला पेंटिंग मॉस्क दो लेयर और तीन लेयर का होगा लेकिन इन पर पेंटिंग के कई डिज़ाइन भी होंगे। दो लेयर का मॉस्क 90 रुपए और तीन लेयर का मॉस्क 100 रुपये में मिलेंगे। मिथिला पेंटिंग युक्त मॉस्क बिहार और झारखंड के हेड पोस्ट आफिस जीपीओ और मुख्य डाकघर में बेचे जाएंगे। डाक विभाग ने सभी मुख्य डाक घर के अधीक्षक को आदेश दिया है कि अगर अनुमंडल प्रखंड एवम ग्रामीण डाकघरों से मॉस्क की मांग की जाए तो उसकी आपूर्ति की जाए।

इधर एक सप्ताह में डाकघरों में डेढ़ लाख रुपए के मॉस्क, हैंड वाश, गमछा, सेनेटाइजर और काढ़ा की बिक्री हुई है। जैसे जैसे डाकघरों में मॉस्क और सेनेटाइजर की बिक्री बढ़ रही है वैसे वैसे इसकी आपूर्ति की जा रही है। पटना जीपीओ में 1025 मॉस्क 140 काढ़ा  125 पीस सेनेटाइजर 50 गमछा और 15 हैंड वाश की बिक्री हुई है। मॉस्क के दर 25 से लेकर 250 रुपए तक के हैं लेकिन 250 रुपए वाले मॉस्क की बिक्री अधिक हुई है।

बिहार के चीफ पोस्ट मास्टर अनिल कुमार के मुताबिक बिहार और झारखंड के डाकघरों में मिथिला पेंटिंग युक्त मॉस्क की भी बिक्री होगी। इसके लिए पेंटिंग के स्थानीय कलाकारों से करार किया गया है।

Leave a Reply