मुख्यमंत्री नीतीश का फरमान, कोरोना लक्षण वाले मरीजों की जांच के लिए तय करें संस्थान

पटना, एमएम : बिहार में कोरोना संक्रमण बहुत तेजी से बढ़ रहा है। एक दिन में करीब 17 सौ से ज्यादा मरीज मिलने से पूरे प्रदेश में हड़कंप मचा दिया है। इसी को देखते हुए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मुख्य सचिव को निर्देश दिया है कि वैसे मरीज जिनमें कोरोना संक्रमण के लक्षण हैं, उन्हें किसी भी निर्धारित स्वास्थ्य संस्थान पर अपनी जांच कराने की सुविधा दिलाएं। इसके लिए संस्थान तय कर दें। स्वास्थ्य विभाग इसके लिए सभी आवश्यक व्यवस्था सुनिश्चित करे।

बतादें कि कोरोना से पटना का हालत बहुत खराब होते जा रहा है। इसी को देखते हुए पटना में इस तरह की व्यवस्था अविलंब प्रारंभ करा देने का भी आदेश दिया है। साथ ही विज्ञापन एवं अन्य माध्यमों से लोगों को यह सूचना दी जाय कि कहां पर और किस प्रकार से जांच की यह व्यवस्था की जा रही है।

मुख्यमंत्री ने मुख्य सचिव के साथ कोरोना संक्रमण से बचाव के लिये किये जा रहे कार्यों की समीक्षा की और कई निर्देश दिए। मुख्यमंत्री ने यह भी निर्देश दिया कि एंटीजन जांच की व्यवस्था का विस्तार सुनिशित किया जाय, ताकि जांच कार्य एवं इसकी रिपोर्ट आने में और तेजी आ सके। उन्होंने कहा कि होम आइसोलेशन में रहने वाले लोगों की लगातार मॉनिटरिंग करें। उन्हें किसी प्रकार की चिकित्सा सुविधा की जरूरत होने पर अविलंब उपलब्ध करायी जाय। इतना ही नहीं मुख्यमंत्री ने लोगों से अपील की है कि लोग धैर्य रखें, सचेत रहें, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें। अत्यंत जरूरी होने पर ही घर से बाहर निकलें और घर से बाहर निकलते समय मास्क का प्रयोग अवश्य करें।

Leave a Reply