सुशांत केस : बिहार सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में दाखिल किया हलफनामा, रिया पर लगाए कई गंभीर आरोप

दिल्ली, एमएम :  अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में उनके पिता केके सिंह द्वारा पटना में दर्ज एफआइआर का विरोध मुख्‍य आरोपित रिया चक्रवर्ती ने सुप्रीम कोर्ट में किया है। इस बीच पटना पुलिस ने दर्ज एफआइआर के आधार पर मामले की मुंबई जाकर जांच की। रिया की याचिका पर पांच अगस्‍त को सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने सभी पक्षों से तीन दिनों के भीतर जवाब मांगा। बिहार सरकार ने शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट में अपना जवाब दाखिल कर दिया, जिसमें उसने कहा है कि एफआइआर दर्ज करना उसके अधिकार क्षेत्र में था। बिहार सरकार के जवाब के अनुसार रिया ने सुशांत की मानसिक बीमारी की गलत कहानी भी गढ़ी।

हलफनामे में बताया गया है कि रिया चक्रवर्ती और उसके परिवार के सदस्यों ने सुशांत सिंह राजपूत से उनके पैसे हड़पने के लिए नजदीकियां बढ़ाईं। रिया ने सुशांत की मानसिक बीमारी की झूठी कहानी तैयार की। पटना पुलिस की जांच की जानकारी देते हुए बिहार सरकार ने बताया कि रिया व उसके परिवार के खिलाफ सुशांत के पिता ने एफआइआर में जो आरोप लगाए हैं, उनमें सत्यता है।

इतना ही नहीं पटना पुलिस ने सुशांत के करीबी लोगों से  बातचीत में पाया कि सुशांत को दवाओं की ओवरडोज दी जा रही थी। वे बीमार थे, पर डिप्रेशन में नहीं थे। रिया के परिवार ने रुपये हड़पने के लिए साजिश के तहत सबकुछ किया।

पटना में एफआइआर दर्ज करने को लेकर बिहार सरकार ने कहा कि यह उनके अधिकार क्षेत्र था। हलफनामा में कहा गया है कि मुंबई पुलिस ने कोई संगीन मामला दर्ज नहीं किया। इस मामले की संवेदनशीलता को देखते हुए बिहार सरकार ने सीबीआइ जांच की सिफारिश की।

Leave a Reply