मुजपफ्फरपुर में दहेज के लिए मां-बेटी की हत्या, खेत में मिली दोनों की लाश

मुजपफ्फरपुर, एमएम :  एक तरफ हम बेटियों को आगे बढ़ाने की बात करते हैं। तो दूसरी तरफ उसे तरह-तरह की यातनाएं भी दी जा रही है। दहेज़ रूपी दानव भी बेटियों के लिए अभिशाप बनते जा रहा है। ना जाने कितने विवाहिता हर साल दहेज की बलि चढ़ जाती हैं। आखिर कब हमलोग बेटियों को उसका असली हक दिला पाएंगे। ताजा मामला मुजफ्फरपुर जिले के साहेबगंज थाना क्षेत्र की है। सरैया पंचायत अंतर्गत बल्थी नरहर गांव स्थित चौर से 27 वर्षीय महिला तथा उसकी 3 वर्षीय पुत्री की लाश मिली है। मृतका के चेहरे पर गहरे जख्म के निशान पाए गए हैं। मृत महिला की पहचान बल्थी नरहर निवासी सुरेश पंडित की पत्नी रिंकू देवी तथा उसकी पुत्री सलोनी कुमारी के रूप में हुई है। मां-बेटी की लाश मिलने की सूचना पर मृतका के मायके वालों में कोहराम मच गया। रोते-बिलखते परिजन बल्थी नरहर गांव पहुंचे जहां रिंकू के ससुराल वाले घर छोड़कर फरार थे।

घटना की सूचना स्थानीय पुलिस को दी गई। सूचना मिलने पर दारोगा सुनील कुमार श्रीवास्तव, दारोगा मो. रुस्तम, एएसआइ शिवनंदन भगत तथा प्रशिक्षु एएसआइ सोनू कुमार पहुंचे तथा मामले की जांच के बाद शवों को पोस्टमार्टम के लिए एसकेएमसीएच भेज दिया। इस मामले में पारू के पंदेह निवासी मृतका के भाई चंद्रशेखर पंडित ने थाने में दोहरी हत्या का आरोप सुरेश पंडित, देवनारायण पंडित, उसकी पत्नी, उमेश पंडित तथा शिवशंकर पंडित पर लगाते हुए थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई है। उसने पुलिस को बताया कि उसकी बहन रिंकू देवी की शादी 7 साल पूर्व बल्थी नरहर निवासी सुरेश पंडित से हुई थी। तबसे दहेज की मांग को लेकर रिंकू को प्रताडि़त किया जाता रहा जिसकी शिकायत रिंकू मायके वालों से करती रही। कई बार बहन की पीड़ा को लेकर चन्द्रशेखर पंडित ने रिंकू के ससुराल वालों के बीच पंचायती भी कराई थी। एएसआई भगत ने बताया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही मामले की सच्चाई सामने आएगी और तहकीकात शुरू हो सकेगी।

Leave a Reply