अहमदाबाद के कोरोना अस्पताल में लगी आग, 8 मरीजों की मौत, प्रधानमंत्री ने जताया दुःख

अहमदाबाद, एमएम : एक बड़ी खबर गुजरात के अहमदाबाद से मिल रही है। जहां एक निजी अस्पताल में गुरुवार तड़के आग लगने से कोविड-19 के आठ मरीजों की मौत हो गई। एक एक उच्चाधिकारी के मुताबिक कोरोना के मरीजों के उपचार के लिए चिह्नित नवरंगपुर इलाके के श्रेय अस्पताल में गुरुवार अहले करीब साढ़े तीन बजे आग लगी। हादसे में आईसीयू वार्ड में भर्ती पांच पुरुष और तीन महिलाओं की मौत हो गई। उन्होंने बताया कि अस्पताल में कोविड-19 के करीब 40 अन्य मरीजों को बचा लिया गया और उन्हें शहर के एक अन्य अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आग लगने की घटना पर दुख जताया है। उन्होंने गुजरात के मुख्यमंत्री और स्थानीय मेयर से बात भी की है। प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट किया, ‘अहमदाबाद के अस्पताल में लगी आग की घटना से दुख हुआ। परिजनों के प्रति संवेदनाएं। हादसे में घायल हुए लोग जल्द ठीक हों। मैंने स्थिति को लेकर मुख्यमंत्री विजय रुपाणी और मेयर से बातचीत की है। प्रशासन प्रभावितों को हर संभव मदद प्रदान कर रहा है।’

अहमदाबाद दमकल विभाग के एक अधिकारी ने कहा, ‘आग लगने की वजह से श्रेय अस्पताल के आईसीयू वार्ड में भर्ती कोरोना वायरस के आठ मरीजों की मौत हो गई। आग पर काबू पा लिया गया है।’ अधिकारी ने बताया कि प्राथमिक जांच में शॉर्ट सर्किट की वजह से आग लगने की बात सामने आई है। सहायक पुलिस आयुक्त एल. बी. जाला ने कहा, ‘विस्तृत जांच के लिए फोरेंसिक विशेषज्ञ मौके पर पहुंच गए हैं।’

बतादें कि अहमदाबाद नगर निगम ने शहर के 60 निजी अस्पतालों को कोविड-19 के मरीजों के इलाज के लिए चिह्नित किया है, जिसमें श्रेय अस्पताल भी शामिल है। नगर निगम आयुक्त मुकेश कुमार आग लगने के तुरंत बाद मौके पर पहुंचे। उन्होंने बताया कि शॉर्ट सर्किट की वजह से आग लगी, जो कुछ मिनटों में ही आईसीयू वार्ड तक पहुंच गई।

प्रमुख स्वास्थ्य सचिव जयंती रवि भी मौके पर पहुंची और जांच का आश्वासन दिया। इस बीच, गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने हादसे की जांच के आदेश दिए हैं। मुख्यमंत्री कार्यालय ने एक बयान में कहा कि दो आईएएस अधिकारी, गृह विभाग की अतिरिक्त मुख्य सचिव संगीता सिंह और शहरी विकास विभाग के एएससी मुकेश पुरी मामले की जांच करेंगे। वहीं मुख्यमंत्री विजय रुपानी ने मृतकों के परिजन को चार लाख और घायलों को 50 हजार रूपये मुआवजे का एलान किया है। साथ ही प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भी मृतकों को 2 लाख और घायलों को 50 हजार प्रधानमंत्री राहत कोष से देने का एलान किया है

बयान के अनुसार, उनसे तीन दिन के अंदर रिपोर्ट देने करने को कहा गया है। आपको बतादें कि गुजरात में सबसे ज्यादा कोरोना मरीज अहमदाबाद में ही पाए गए हैं। हालांकि पिछले कुछ दिनों से इसकी संख्या में कमी देखने को मिल रही है। राज्य में कोरोना संक्रमण के मामले बुधवार को 66,777 हो गए। वहीं कोरोना से मरने वालों की संख्या 2,557 हो गई है।

Leave a Reply