बिहार के आईपीएस अधिकारी विनय तिवारी को अभी नहीं छोड़ेगी BMC, डीजीपी बोले- अब जाएंगे कोर्ट

पटना,एमएम :  सिने अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत केस में रोज नए उलझन आती जा रही है। बुधवार को अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में सुप्रीम कोर्ट ने जांच के लिए मुंबई पहुंचे बिहार के आइपीएस अधिकारी को क्‍वारंटाइन करने को लेकर महाराष्‍ट्र सरकार को फटकार लगाई है। बतादें कि इसके पहले बिहार सरकार द्वारा अधिकरी को क्‍वारंटाइन से मुक्‍त करने के अनुरोध को बीएमसी ने खारिज कर दिया। इससे बौखलाए बिहार के डीजीपी ने अब कोर्ट जाने की बात कही है।

मालूम हो कि सुशांत सिंह की मौत के मामले में उनके पिता ने पटना में एफआइआर दर्ज करा दी है। इस एफआइआर के आधार पर जांच के लिए मुंबई गई बिहार पुलिस की टीम के साथ मुंबई पुलिस असहयोग करती रही है। इस बीच पटना में दर्ज एफआइआर को मुंबई स्‍थानांतरित कराने के लिए एफआइआर की मुख्‍य आरोपित रिया चक्रवर्ती सुप्रीम कोर्ट पहुंच गई है। रिया के साथ कोर्ट में महाराष्‍ट्र सरकार खड़ी है तो सुशांत के पिता व बिहार सरकार ने कोर्ट में रिया का विरोध किया है। इस बीच मामले की जांच के लिए मुंबई भेजे गए पटना के सिटी एसपी विनय तिवारी को मुंबई में क्‍वारंटाइन कर दिया गया है।

जांच के लिए भेजे गए अधिकारी को क्वारंटाइन किये जाने के खिलाफ बिहार पुलिस के आइजी ने बीएमसी को पत्र लिखकर विरोध जताया तथा उन्‍हें मुक्त करने का अनुरोध किया। लेकिन बीएमसी ने बिहार सरकार के इस अनुरोध को खारिज कर दिया है। बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने इसपर नाराजगी जताते हुए कहा है कि अब बिहार पुलिस बीएमसी के खिलाफ कोर्ट जाएगी। उन्‍होंने आशंका जाहिर की है कि बीएमसी उनके आइपीएस अधिकारी के साथ कुछ भी कर सकता है।

Leave a Reply