नीतीश कुमार ने किया मधुबनी और जयनगर का दौरा, बाढ़ सुरक्षा से जुड़े कामों का किया निरीक्षण

मधुबनी, एमएम : बिहार में बरसात शुरू हो चुकी है। राज्य के कई हिस्सों में अच्छी बारिश हो रही है। जिस कारण नदियों के जलस्तर में वृद्धि देखा जा रहा हैऔर इससे बाद का खतरा भी बढ़ा रहा है। ऐसे में राज्य में हरेक साल आने वाले बाढ़ को लेकर राज्य सरकार चिंतित दिखाई दे रही है। इसी कड़ी में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और राज्य के जल संसाधन मंत्री संजय कुमार झा बुधवार को मधुबनी और जयनगर का दौरा किए। इस दौरान सीएम बाढ़ से बचने के लिए किये जा रहे कार्यों का जायजा भी लिया।

वहीं मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बुधवार को मधुबनी के जयनगर में कमला नदी पर तटबंध के निर्माण कार्य का जायजा लिया। सड़क मार्ग से यहां पहुंचे सीएम ने जल संसाधन विभाग के पदाधिकारी व अभियंताओं से तटबंध के निर्माण में आ रही परेशानी के बारे में भी जानकारी ली।

बतादें कि इससे पहले मंगलवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पदाधिकारियों को निर्देश दिया है कि कोसी, गंडक, कमला एवं अन्य नदी बेसिन, सीमावर्ती क्षेत्रों में तथा पिछली बार जहां कटाव हुआ था, उन स्थलों पर बाढ़ सुरक्षा के कार्य पूरी तत्परता से करें। बाढ़ सुरक्षा से संबंधित सभी लंबित योजनाओं को पूरा करने के लिए नेपाल के अधिकारियों के साथ समन्वय कर शीघ्र पूरा कराएं।

मालूम हो कि कमला नदी से आई बाढ़ में पिछले साल भारी तबाही हुई थी। तटबंध का कुछ भाग नोमेंस लैंड क्षेत्र में आता है। नेपाली पुलिस ने टूटे तटबंध के निर्माण पर रोक लगा दी है। तटबंध जहां समाप्त होता है वहां से भारत-नेपाल रेललाइन गुजरती है। नेपाल के विरोध के कारण यहां तटबंध की चौड़़ाई पहले से कम करनी पड़ी है। इसके बाद मुख्यमंत्री ने कमला पुल का भी जायजा लिया। पिछले वर्ष पुल के ऊपर से बाढ़ का पानी बहने लगा था।

मुख्यमंत्री ने स्पष्ट निर्देश दिया है कि संचार व्यवस्था और सुदृढ़ रखें। बाढ़ की स्थिति में भी संचार व्यवस्था पूरी तरह बहाल रहे, यह सुनिश्चित करें। संभावित बाढ़ से बचाव की सारी तैयारियां पूर्व से ही रखें। बाढ़ की स्थिति में लोगों को राहत पहुंचाने के लिए जो भी कार्य किए जाने हैं, मानक संचालन प्रणाली के अनुसार वे सारी तैयारियां की जाएं। ताकि किसी को भी कोई कठिनाई न हो।

जानकारी के मुताबिक कोशी बेसिन में प्रस्तावित 22 कार्यों में से 15 को पूरा करा लिया गया है। शेष सात कार्यों को भी शीघ्र पूरा करें। जल संसाधन विभाग द्वारा प्रस्तुतीकरण के दौरान बताया गया कि कमला वियर के बायें एवं दायें गाईड बांध का मरम्मत और सुरक्षात्मक कार्य अभी अपूर्ण है। पूर्वी चम्पारण के बेलवा धार में एंटी फ्लड स्लुईस गेट निर्माण का कार्य चल रहा है। मुख्यमंत्री ने इन कार्यों को भी शीघ्र पूरा करने निर्देश दिया।

Leave a Reply