16 बिहार रेजिमेंट के कमांडिंग ऑफिसर कर्नल संतोष बाबू शहीद, चीनी सैनिकों के साथ हुई थी हिंसक झड़प

दिल्ली, एमएम : सोमवार रात चीनी सैनिकों के साथ भारतीय सेना की हिंसक झड़प हो गई। यह घटना पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी में हुई इस टकराव में भारतीय सेना का एक अधिकारी और दो जवान शहीद हो गए। शहीद हुए जवान में एक 16 बिहार रेजिमेंट के कमांडिंग ऑफिसर कर्नल संतोष बाबू भी शामिल हैं। न्‍यूज एजेंसी ANI के हवाले से खबर है कि कर्नल संतोष गलवान घाटी में पैट्रोलिंग पॉइंट 14 के करीब हुई झड़प में शहीद हुए। संतोष ने 2 दिसंबर 2019 को ही कमान संभाली थी।

बतादें कि चीन की सीमा पर लगभग 45 साल बाद, भारतीय सशस्त्र बलों के जवानों की इस तरह शहादत की पहली घटना है। हिंसक टकराव के दौरान एक अधिकारी व दो जवान शहीद हुए, जबकि कई चीनी सैनिक भी ढेर हुए हैं। 1975 में अरुणाचल प्रदेश में तुलुंग ला में हुए संघर्ष में चार भारतीय जवानों की शहादत के बाद यह इस तरह की पहली घटना है।

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने प्रमुख रक्षा अध्यक्ष जनरल बिपिन रावत, तीनों सेनाओं के प्रमुख व विदेश मंत्री एस जयशंकर के साथ एक उच्च स्तरीय बैठक के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को इस टकराव के साथ-साथ पूर्वी लद्दाख के संपूर्ण घटनाक्रम से अवगत कराया दिया है।

बताया जा रहा है कि हिंसक टकराव के दौरान शहीद अधिकारी कर्नल व गलवान में एक बटालियन के कमांडिंग अफसर थे। तीनों सैनिक चीन की ओर से किए गए पथराव में घायल हुए जिसके बाद उनका निधन हो गया। हालांकि अभी इस पर कोई आधिकारिक बयान नहीं आया है। आधिकारिक सूत्रों की माने तो दोनों ओर से कोई गोलीबारी नहीं हुई। पिछले पांच हफ्तों से गलवान घाटी समेत पूर्वी लद्दाख के कई क्षेत्रों में बड़ी संख्या में भारतीय और चीनी सैनिक आमने सामने हैं।

Leave a Reply