सर्वदलीय बैठक में आप और राजद ने नहीं बुलाए जाने पर जताई आपत्ति, तेजस्वी ने ट्वीट कर साधा निशाना

नई दिल्लीः लद्दाख के गलवान घाटी में भारत एवं चीनी सैनिकों के बीच हिंसक झड़प के बाद दोनों देश में संबंध में गतिरोध बना हुआ है। सेना के अधिकारी स्तर पर दोनों देशों के बीच बातचीत का नतीज़ा विफ़ल रहा। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा बुलाई गई सर्वदलीय बैठक में राष्ट्रीय जतना दल और आम आमदी पार्टी को नहीं बुलाया गया। केन्द्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह बृहस्पतिवार शाम सभी दलों के अध्यक्षों को बैठक में हिस्सा लेने के लिए आमंत्रित किया। निमंत्रण नहीं मिलने पर राजद नेता और बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने ट्वीट कर सरकार के पूछा कि उनकी पार्टी को बैठक के लिए निमंत्रण क्यों नहीं दिया गया?

तेजस्वी यादव ने ट्वीट मे लिखा कि प्रिय रक्षा मंत्री एवं पीएमओ सर्वदलीय बैठक में किसी पार्टी को बुलाए जाने की क्य प्रक्रिया उसके विषय में जानना चाहता हूं। आखि़र किस आधार पर पार्टियों को निमंत्रण दिया जाता है, क्योंकि हमारी पार्टी को अभी तक आमंत्रण नहीं मिला है।

सूत्रों से मिल रही जानकारी के मुताबिक़ जिन दलों के सदन में पांच से कम सांसद हैं उन्हें इस सर्वदलीय बैठक का हिस्सा नहीं गया है। जनतब हो कि राज्य सभा में आप के तीन सांसद हैं जबकि पंजाब से पार्टी के लोकसभा सांसद भगवंत मान जीतकर आते हैं, इस प्रकार से दोनों सदनों में पार्टी के 4 सांसद हैं। इस बाबत आप नेता संजय सिंह ने भी केन्द्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि दिल्ली में हम सरकार में हैं और पंजाब में मुख्य विपक्षी पार्टी हैं, सदन में हमारे 4 सांसद हैं, आखि़र सर्वदलीय बैठक का अर्थ क्या है? केन्द्र में एक अजीबोगरीब सरकार है और उसके फ़ैसले भी समझ से बाहर है।

पांच सांसदों वाली थ्योरी पर राजद नेता और राज्य सभा सांसद मनोज झा ने लिखा है कि हमारे पास तो पांच का संख्या बल है फ़िर हमारी पार्टी को इस बैठक से क्यों बाहर किया गया है? शाम पांच बजे वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के माध्यम से होने जा रही इस बैठक में कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष सोनिया गांधी तथा तृमणूल प्रमुख ममता बनर्जी भाग ले सकतीं हैं।

Leave a Reply