सुशांत सिंह राजपूत का घर बनेगा स्मृति स्थल, सुशांत की यादों को जिंदा रखने के लिए परिवार ने किया फैसला

पटना, एमएम : सुशांत सिंह राजपूत को इस दुनिया को अलविदा कहे दो हफ्ते हो गये हैं पर उनके परिजन और फैंस इस सदमे से अभी उबर नहीं सके हैं। शनिवार को सुशांत की तेरहवीं थी। लोगों की दिल पर बहुत कम समय में ऐसा राज बहुत कम अभिनेता कर पाते हैं। उनके फंस को अब भी विश्वास नहीं हो रहा कि वो आब इस दुनियां में नहीं रहे। क्या नेता क्या अभिनेता सबके सब छुब्द हैं कि भला कोई ऐसे कैसे कर सकता है। अब सुशांत की यादों को सहेजने के लिए उनके घर वाले पटना के राजीव नगर रोड नंबर 6 स्थित पैतृक आवास को स्मारक बनायेंगे।

बतादें कि सुशांत यहीं रहते हुए अपनी 10वीं तक की पढ़ाई की थी और साथियों के साथ क्रिकेट भी खेला करता था। राजीवनगर रोड नंबर छह स्थित सुशांत सिंह राजपूत का घर अब स्मारक बनेगा। उनसे जुड़ी तमाम यादगार चीजें यहां रखी जायेंगी। सुशांत की यादों को जिंदा रखने के लिए उनके पटना स्थित घर को स्मृति स्थल के रूप में विकसित करने का फैसला उनके परिवार ने लिया है। परिवार ने पहली बार अलविदा सुशांत के नाम से एक भावुक पत्र जारी कर यह जानकारी सार्वजनिक की है। परिजनों ने कहा है कि सुशांत का बचपन राजीव नगर के इसी घर में बीता था। यहां उनकी किताबें, उनका पसंदीदा टेलिस्कोप, फ्लाइट स्टिम्यूलेटर व उनसे जुड़ी तमाम यादगार चीजें रखी जाएंगी।

वहीं, सुशांत की यादों व उनकी विरासत को सहेज कर रखने के लिए ‘सुशांत सिंह राजपूत फाउंडेशन’ भी बनाया जा रहा है, जिसके जरिये सिनेमा, विज्ञान व खेल जगत की उभरती प्रतिभाओं को मदद की जाएगी। पत्र में यह भी कहा गया है कि सुशांत के इंस्टाग्राम पेज को लिगेसी एकाउंट की तरह चलाया जायेगा. सुशांत के चचेरे भाई भाजपा विधायक नीरज सिंह बबलू ने सोशल मीडिया पर वायरल इस पत्र की पुष्टि करते हुए कहा कि यह पत्र सही है। हमलोगों ने सुशांत की यादों को बरकरार रखने के लिए यह फैसला किया है.

अभिनेता सुशांत के चचेरे भाई विधायक नीरज बबलू ने संदेश पत्र जारी होने की पुष्टि की है। इसमें कहा गया है कि हमारे गुलशन को इतना प्यार देने के लिए शुक्रिया। वो हमारे परिवार का गौरव और प्रेरणा था। उसका टेलिस्कोप उसकी सबसे पसंदीदा चीज थी। इससे वो सितारों को देखा करता था। हम अब भी इस बात का यकीन नहीं कर पा रहे हैं कि अब हम कभी उसकी हंसी नहीं सुन पाएंगे। उसकी चमकती आंखें नहीं देख पाएंगे। साइंस के बारे में उसकी कभी खत्म ना होने वाली बातें नहीं सुन पाएंगे। उसके जाने से हमारे परिवार में खालीपन है जो कभी खत्म नहीं होगा। वो सच में अपने हर एक फैन से प्यार करता था। पत्र के आखिर में सुशांत के परिवार ने उसके सभी फैन को प्यार और सपोर्ट के लिए धन्यवाद दिया है।

Leave a Reply