सूर्य ग्रहण खत्म, अब 2034 में बनेगा ऐसा संयोग, तस्वीरों से देखिये देश-विदेश में कैसा दिखा सूर्य ग्रहण

दिल्ली, न्यूज़ डेस्क, एमएम : रविवार को सूर्य ग्रहण लगा। नौ सौ साल के बाद बल्याकर सूर्य ग्रहण लगा। ज्योतिषों की माने तो रविवार को ग्रहण लगा है इसलिए चूड़ामणि योग है। 21 जून रविवार को आषाढ़ मास, अमावस्‍या तिथि में लगा। मृगसिरा और आर्द्रा नक्षत्र, मिथुन राशि में लगने वाला यह खंडग्रास सूर्य ग्रहण कंकणाकार और वलयाकार था। सूर्य ग्रहण की अ‍वधि तीन घंटे 30 मिनट की थी। यह ग्रहण मृगशिरा और आर्द्रा नक्षत्र पर, मिथुन राशि पर लगा।

जम्मू कश्मीर का सूर्य ग्रहण

रविवार, अमावस्‍या और सूर्य ग्रहण का संयोग। तीन-तीन योग एक साथ एक दिन दिखा। यह भारत सहित अफ्रीका, दक्षिण-पूर्व यूरोप, मध्य पूर्व के देशों, एशिया, इंडोनेशिया में दिखाई दिया।

महाराष्ट्र का सूर्य ग्रहण

ज्योतिष के मुताबिक इससे पहले वलयाकार ग्रहण 26 दिसंबर 2019 को दक्षिण भारत से और आंशिक ग्रहण के रूप में देश के विभिन्न हिस्सों से देखा गया था। अगला वलयाकार सूर्य ग्रहण भारत में अगले दशक में दिखाई देगा, जो 21 मई 2031 को होगा, जबकि 20 मार्च 2034 को पूर्ण सूर्य ग्रहण देखा जाएगा। आज लगे ग्रहण की खास बात ये हैं कि ये वलयाकार सूर्य ग्रहण था जिसमें चंद्रमा सूर्य का करीब 98.8% भाग ढक दिया।

गुजरात का सूर्य ग्रहण

राजस्थान का सूर्य ग्रहण

हरियाणा का सूर्य ग्रहण

यूएई का सूर्य ग्रहण

उत्तराखंड का दृश्य

पाकिस्तान का सूर्य ग्रहण

पंजाब का सूर्य ग्रहण

दिल्ली का सूर्य ग्रहण

नेपाल का सूर्य ग्रहण

Leave a Reply