कांग्रेस ने पार्टी विरोधी गतिविधियों के आरोप में संजय झा को दिखाया पार्टी से बाहर का रास्ता

मुंबई, एमएम : लगता है कांग्रेस में सब कुछ ठीक नहीं चल रहा है। राजस्थान में सचिन पायलट और उनके खेमे पर कार्रवाई करने के बाद कांग्रेस ने एक और नेता के खिलाफ एक्शन लिया है। कांग्रेस ने महाराष्ट्र में पार्टी के नेता संजय झा को बाहर का रास्ता दिखा दिया। इसके पहले संजय झा को कांग्रेस ने प्रवक्ता पद से हटा दिया था।

महाराष्ट्र कांग्रेस के नेता संजय झा पर पार्टी विरोधी गतिविधियों में शामिल रहने और अनुशासन तोड़ने का आरोप लगाया गया है। महाराष्ट्र प्रदेश कांग्रेस कमेटी की ओर से जारी पत्र में बालासाहेब थोराट के हस्ताक्षर हैं।

महाराष्ट्र कांग्रेस प्रमुख बाला साहेब थोराट ने एक बयान में कहा, ”झा को पार्टी विरोधी गतिविधियों और अनुशासनहीनता के आरोप में तत्काल प्रभाव से निलंबित किया जाता है।” बतादें कि एक अंग्रेजी दैनिक में जून महीने में एक लेख सामने आने के तुरंत बाद कांग्रेस ने झा को पार्टी प्रवक्ता के पद से हटा दिया था।

संजय झा ने मंगलवार को राजस्थान में जारी सियासी संकट को लेकर कांग्रेस को हल सुझाए थे। उन्होंने कहा था कि राजस्थान में सचिन पायलट को मुख्यमंत्री बना देना चाहिए। इसके अलावा तीन बार मुख्यमंत्री रह चुके अशोक गहलोत को बड़ी जिम्मेदारी देते हुए जहां कांग्रेस कमजोर है, वहां पार्टी को मजबूत करने के लिए कहना चाहिए। संजय झा ने यह भी कहा कि राजस्थान में कांग्रेस को नया अध्यक्ष भी देना चाहिए। पार्टी को दिए सलाहों का समापन उन्होंने, ‘जहां चाह, वहां राह’ से किया।

बतादें कि कुछ समय पहले संजय झा ने एक लेख के माध्यम से पार्टी की कार्यशैली पर सवाल खड़े किए थे। उन्होंने कहा था कि पार्टी में आंतरिक लोकतंत्र का अभाव है। इसके बाद कांग्रेस ने पिछले दिनों आधिकारिक बयान जारी कर जानकारी दी थी कि कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने संजय झा को एआईसीसी प्रवक्ता पद से तत्काल प्रभाव से हटाने को मंजूरी दे दी थी। अब सवाल ये है कि मान लिया जाए की कांग्रेस अब किसी भी तरह की कार्रवाई करने में कोई देरी नहीं करेगी। पिछले कुछ घटनाक्रम तो इसी ओर इशारा कर रहा है।

Leave a Reply