योगी सरकार में किसानों और प्रवासी मजदूरों के लिए कोई जगह नहीं: प्रियंका गांधी

लखनऊ, एमएम : पिछले कुछ दिनों से कांग्रेस महासचिव प्रियंका गाँधी योगी सरकार को हरेक मसले पर घेरने की कोशिश करते नजर आ रही हैं। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने एक बार फिर उत्तर प्रदेश की व्यवस्थाओं पर सवाल उठाते हुए योगी सरकार पर हमला किया है। उन्होंने बुंदेलखंड में किसानों और मजदूरों की आत्महत्या को लेकर को एक के बाद एक ट्वीट किए।

प्रियंका गाँधी ने ट्वीट में लिखा कि बुंदेलखंड में पिछले एक हफ्ते में चार किसानों और मजदूरों ने आत्महत्या कर ली। इसमें वे प्रवासी मजदूर भी थे जो बाहर से लौटे थे। लखनऊ में बैठे यूपी के मुख्यमंत्री और अधिकारी रोज मैपिंग करवाने की बात कर रहे हैं। दुःख की बात है कि उनके मैप में इन किसानों और प्रवासी मजदूरों की जगह नहीं है।

इसके साथ ही प्रदेश में बहुचर्चित फर्जी अनामिका शुक्ला मामले को लेकर भी प्रियंका ने ट्वीट किया। उन्होंने लिखा कि कस्तूरबा विद्यालय की नियुक्तियों में घोटाला सामने आने के बाद तो शिक्षा विभाग में अन्य घोटालों की परतें खुलने लगीं।  अब परिषदीय विद्यालयों में फर्जी नियुक्तियों का मामला। नियुक्तियां 2018 में हुईं। दो साल तक ये सब चलता रहा। सच सामने आना चाहिए कि नहीं? उन्होंने सवाल उठाया कि ये सब भर्तियां किसके कार्यकाल में हुईं और अभी तक चलती कैसे रहीं?

प्रियंका गाँधी इतने पर ही नहीं रुकी। उन्होंने कहा कि कैसे एक डिग्रीधारी के नाम पर 25 लोग काम कर रहे थे। स्वास्थ्य विभाग के बदइंतजामी का भी ठीकरा योगी के सर मढ दिया कि कोरोना संकट मे भी योगी सरकार वोट बैंक के हिसाब से सुविधा उपलब्ध करा रही है। आलम ये है कि प्रदेश सरकार कोरोना से लड़ने मे पूरी तरह फेल साबित हो रही है।

Leave a Reply