नीतीश सरकार का बड़ा फैसला, दोगुना हुआ परवरिश योजना की राशि

पटनाएमएम : कोरोना का संकट क्या आया मानो गरीब मजदूरों पर आफद आ गई। ना जाने कितनों की जान चली गई। इस त्रासदी में कुछ बच्चे अनाथ भी हो गए। आपको याद होगा बिहार के मुजफ्फरपुर स्टेशन का दृश्य। एक अबोध बालक कैसे अपने मरी हुई माँ के पल्लू को खिंच रहा था। उसे क्या पता था कि उसकी माँ सदा के लिए सो गई।  कोरोना काल में यह दृश्य काफी वायरल हुआ, जिसमें एक अबोध बालक अपनी मरी हुई मां का पल्लू खींच कर उसे उठाने की कोशिश कर रहा था।

अब जाके कहीं बिहार सरकार कुम्भकर्णी निद्रा से जागी है। इस दृश्य ने बिहार में परवरिश योजना की राशि दोगुनी करा दी। यह वह योजना है, जिसके तहत अगर किसी अनाथ की परवरिश का कोई जिम्मा उठाता है तो समाज कल्याण विभाग उसे उक्त बच्चे के लालन-पालन के लिए प्रतिमाह एक हजार रुपये देता है। अब यह राशि बढ़ाकर दो हजार रुपये कर दी गई है। उक्त अनाथ बच्चे को भी इस योजना से जोड़ा गया है।

समाज कल्याण विभाग के अपर मुख्य सचिव अतुल प्रसाद ने बताया कि कोरोना काल में जो वीडियो वायरल हुआ उसमें एक अबोध बच्चा अपनी मरी पड़ी मां का पल्लू खींचकर उसे जगाने की कोशिश कर रहा है। यह दिल दहलाने वाला दृश्य था। इस दृश्य को ध्यान में रख तुरंत उस बच्चे की देखभाल करने वाले लोगों को परवरिश योजना का लाभ देने की बात तय कर दी गयी। उसी दिन तय हो गया कि इस योजना के तहत असहाय बच्चों की परवरिश करने वालों को अब प्रति माह एक हजार रुपए की जगह दो हजार रुपए दिए जाएंगे। इस योजना के तहत लाभुकों की संख्या की कोई लिमिट नहीं है। राज्य सरकार अपनी योजना से यह राशि उपलब्ध कराती है।

यह योजना उन असहाय बच्चों के लिए है जिनकी उम्र अठारह साल से कम है। शर्त यह है कि बच्चे का नाम बीपीएल सूची में दर्ज हो। जो परिवार बच्चे की परवरिश करेगा उसकी अधिकतम वार्षिक आय तीस हजार रुपए से अधिक नहीं होनी चाहिए। साल में दो किस्तों में सरकार मदद की राशि उपलब्ध कराती है। इसका लाभ लेने के लिए समाज कल्याण विभाग की वेबसाइट पर जाकर आवेदन करना होता है।

आपको बतादें कि केंद्र सरकार भी इस तरह की योजना चलाती है, पर उसमें आवंटन कम है इसलिए लाभार्थियों की संख्या उतनी नहीं। केंद्र की योजना में यह प्रावधान है कि अगर किसी बच्चे के मां-बाप दोनों नहीं है तब दो हजार रुपए दिए जाएंगे। अगर दोनों में से कोई एक जीवित है, तो मात्र एक हजार रुपए का दिए जाएंगें।

One Reply to “नीतीश सरकार का बड़ा फैसला, दोगुना हुआ परवरिश योजना की राशि”

Leave a Reply