फिर दहेज की बलि चढ़ी एक नव विवाहिता, गाड़ी-जमीन के लिए कर दी गई हत्या

पटना, एमएम : लोगों के लालच का स्तर किस कदर बढ़ रहा है कहने के लिए शब्द नहीं मिल रहा है। समाज में सब दहेज रोकने के मात्र दिखावटी ढ़ोंग कर रहें हैं। दहेज़ रूपी राक्षस अपना चिर फैलाता ही जा रहा है। लोग दहेज के लोभ में ऐसे हो जाते हैं कि उन्हें न सिर्फ रिश्तों की परवाह खत्म हो जाती है, बल्कि इंसानियत से भी कोई मतलब नहीं होता। ऐसी ही एक घटना बिहार के राजधानी पटना से आई है। पटना में गाड़ी और जमीन की वजह से एक विवाहिता की गला दबाकर हत्या कर दिया गया। हैरान करने वाली बात है कि लड़की के भाई ने 11 लाख रुपये दहेज में दिए थे, मगर इसके बाद भी उसे अपनी बहन से हाथ धोना पड़ा।

दरअसल, राजधानी पटना में एक भाई ग्यारह लाख रुपये देकर भी बहन की जिन्दगी नहीं बचा पाया। जमीन का एक टुकड़ा और चार पहिया गाड़ी के लिए बहन की गला दबाकर हत्या कर दी गई। वह भी शादी के महज डेढ़ साल बाद। यह कहते हुए मृतका के भाई प्रत्युष फूट-फूटकर रो रहा। दहेज की बलिवेदी पर चढ़ने का यह मामला जोधपुर का है। लड़की का मायका पटना के कंकड़बाग में है। लड़की के भाई प्रत्युष कुमार ने जोधपुर के बसनी थाना में पति रुपेश कुमार सिंह और दो जेठ के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करायी है।

प्रत्युष ने बताया कि मां की मौत के बाद बहन की परवरिश दादा-दादी ने की थी। 15 दिसम्बर 2018 को बड़े अरमान से बहन की शादी की थी। लड़का जोधपुर में ही बिजली विभाग में इंजीनियर पद पर कार्यरत है।

प्रत्युष के मुताबिक, शादी के वक्त सब कुछ देने के बाद भी बहन को प्रताड़ित किया जाता था। शादी के बाद पति के अलावा, बहन के साथ ससुराल वालों का रवैया अच्छा नहीं रहता था। कई बार समझाने की कोशिश भी की। फिर भी उनलोगों का रवैया नहीं सुधरा। 18 मई को बहन को बुरी तरह मारा। वह पटना आना चाहती थी। ना आने दे रहे थे ना ठीक से रख पा रहे थे। सिर्फ पैसा मांगते थे। बहन ने पैसे देने में असमर्थता दिखाई। 18 जून की रात में बहन की सास ने फोन करके बताया कि आपकी बहन नहीं रही। प्राथमिकी दर्ज कर आरोपितों पर कठोर कार्रवाई की मांग की है।

Leave a Reply