बाबा रामदेव के कोरोना दवाई पर आयुष मंत्रालय का चला हथौड़ा, कोरोनिल के विज्ञापन पर लगाई रोक

दिल्ली, एमएम : आज पूरा विश्व कोरोना संकट से जूझ रहा है। ऐसे में जब किसी देश से कोरोना इलाज के लिए दवाई या वैक्सीन बनने की खबर आते ही लोगों के मन में उम्मीद की एक किरण दिखाई देती है। ऐसा ही आजू भारत में भी हुआ। कोरोना वायरस से जहां पूरी दुनिया तबाह है, वहीं पतंजलि आयुर्वेद ने इससे निपटने के लिए दवा बनाने का दावा किया।

अब समाचार एजेंसी एएनआई के हवाले से खबर आ रही है कि कोरोना वायरस की दवा बनाने के पतंजलि आर्युवेद के दावों पर आयुष मंत्रालय ने संज्ञान ले लिया है। मंत्रालय ने पतंजलि से कोरोना की दवा से जुड़े विज्ञापनों को बंद करने और इसपर अपने दावे को सार्वजनिक करने से मना किया है। सरकार ने कहा है कि जबतक इसकी विधिवत जांच नहीं हो जाती, तबतक इसके प्रचार पर रोक लगी रहेगी।

बतादें बाबा रामदेव  ने मंगलवार को कोरोना की आयुर्वेदिक दवा लॉन्च की। इस अवसर पर बाबा रामदेव ने कहा कि पूरी दुनिया कोरोना के वैक्सीन का इंतजार कर रहा था। मुझे यह बताते हुए हर्ष महसूस हो कि आयुर्वेद में इसकी दवा का इजाद हमने किया है. यह दवा तीन दिन में अपना असर दिखाने लगेगी। पतंजलि की ओर से दावा भी किया गया कि कोरोना के मरीज इस दवा का सेवन करके 14 दिन में ठीक होंगे।

दवा लॉन्च करते हुए बाबा रामदेव ने कहा कि आज ऐलोपैथिक सिस्टम मेडिसन को लीड कर रहा है, हमने कोरोनिल बनाई है जिसमें हमने क्लीनिकल कंट्रोल स्टडी की। रामदेव का दावा है कि कोरोना की इस दवा से 7 दिन में 100 फीसदी मरीज ठीक हुए हैं। वहीं, तीन दिन के अंदर 69 फीसदी मरीज रिकवर हो गए यानी पॉजिटिव से निगेटिव हो गए।

योग गुरु बाबा रामदेव का संस्थान पतंजलि ने कोरोना वायरस की आयुर्वेदिक दवा कोरोनिल को साइंटिफिक डिटेल के साथ पेश किया। पतंजलि योगपीठ के सीइओ आचार्य बालकृष्ण ने बताया कि कोरोना की आयुर्वेदिक दवा कोरोनिल  की टेस्टिंग में अच्छे रिजल्ट मिले हैं।

इसके बाद सभी मीडिया हाउस ने इस खबर का प्रसारण भी किया। सभी अख़बारों में विज्ञापन भी छपे। लेकिन शाम होते होते भारत सरकार की आयुष मंत्रालय ने पतंजलि द्वारा बनाई गई कोरोनिल के विज्ञापन पर रोक लगा दी। साथ ही पतंजलि योग पीठ से वो सारे साबुत मंत्रालय को जमा करने के लिए कहा गया है जिसके आधार पर बड़े बड़े दावे किए जा रहे हैं।

One Reply to “बाबा रामदेव के कोरोना दवाई पर आयुष मंत्रालय का चला हथौड़ा, कोरोनिल के विज्ञापन पर लगाई रोक”

Leave a Reply