जल्द शुरू हो सकती है नेपाल के लिए ट्रेनों का परिचालन, रेल आईजी ने इंडो-नेपाल परियोजना का लिया जायजा

मधुबनी, एमएम : नेपाल और भारत का संबंध बहुत मैत्री पूर्ण रहा है। लेकिन चीन के चाल में फसकर पिछले कुछ महीनों से भारत के उसके संबंधों पर आघात पहुंचाया है। नक्शा विवाद से लेकर सीमा विवाद तक बढ़ गया। लेकिन देर आए दुरुस्त आए वाली कहावत नेपाल पर सटीक बैठ रही है। जब नेपाल के सात जिलों पर चीन ने अनौपचारिक रूप से अपने विस्तारवादी नीति के तहत कब्जा ज़माने की फिराक में है। तब जाकर नेपाल के प्रधानमंत्री ओली के बोल में कुछ बदलाव दिखा और एक बार फिर भारत के साथ पुराने संबंधों की बहाली के लिए पुरजोर कोशिश कर रहे हैं। खैर इसी महीने दोनों देशों के राजनयिक बैठक के बाद वार्ता फिर शुरू हो गई।

अब इसी के तहत भारत नेपाल मैत्री रेल परियोजना के तहत प्रथम चरण में बने भारत के जयनगर से नेपाल के कुर्था तक रेल परिचालन शुरू होने के संदर्भ में रेल आईजी हाजीपुर एस. मयंक ने गुरुवार को जयनगर स्थित नेपाली रेलवे स्टेशन का निरीक्षण किया। आईजी ने जयनगर नेपाली रेलवे स्टेशन एवं जयनगर रेलवे स्टेशन का गहन निरीक्षण करते हुए आरपीएफ अधिकारियों से विस्तृत जानकारी प्राप्त की। जयनगर नेपाली रेलवे स्टेशन एवं जयनगर स्टेशन परिसर का वीडियोग्राफी भी कराया। बाद ने प्रेसवार्ता के दौरान आईजी ने कहा कि जयनगर बर्दी बांस रेल परियोजना का वे सुरक्षा के दृष्टिकोण से निरीक्षण करने पहुंचे हैं। भविष्य में रेल परिचालन प्रारंभ होने की स्थिति में आरपीएफ समेत अन्य पुलिस पदाधिकारी एवं जवानों की तैनाती बढ़ाने के बाबत निरीक्षण किया है। उन्होंने अलग से आरपीएफ पोस्ट बनाए जाने से इनकार किया। बताया कि निरीक्षण के बाद विस्तृत रिपोर्ट विभाग के वरीय अधिकारियों को भेजा जाएगा।

बतादें कि भारत-नेपाल रेल परियोजना का कार्य होने के बाद आईजी का यह पहला दौरा था। रेल परिचालन कब से प्रारंभ होगा के सवाल पर आईजी ने कहा कि इस संबंध में परिचालन से जुड़े अधिकारी ही बेहतर बता सकते हैं।

मालूम हो कि जयनगर से नेपाल के बर्दी बांस तक 65 किलोमीटर में रेल परिचालन के लिए इरकान द्वारा कार्य कराया जा रहा है। प्रथम चरण में जयनगर से कुर्था तक 31 किलोमीटर में परिचालन प्रारंभ करने के लिए लगभग सभी तैयारियां अंतिम चरण में पहुंचने ही वाली थी कि दोनों देशों में कोरोना संकट के कारण लॉकडाउन लागू कर दिया गया। तब से दोनों देश की सीमाएं भी सील कर आवाजाही बंद कर दी गई। आईजी के जयनगर नेपाली रेलवे स्टेशन का निरीक्षण करने पहुंचने पर एक बार फिर रेल परिचालन प्रारंभ होने की आस दोनों देशों के लोगों में जगी है।

Leave a Reply