कोरोना से जंग में भारत को मिली एक और कामयाबी, देश की दूसरी वैक्सीन को इंसानी ट्रायल को मिली अनुमति

दिल्ली, न्यूज़ डेस्क, एमएम : दुनियाँ भर में कोरोना संक्रमण इस तरह फैल गया है की अब इससे उबरने का रास्ता नहीं दिखाई दे रहा है। दुनियां के बहुत सारे देश इसके स्थाई निदान के लिए प्रयासरत है। दुनियाभर में कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण के बीच भारत, अमेरिका, ब्रिटेन, चीन समेत कई देशों में वैज्ञानिक वैक्सीन बनाने को लेकर प्रयासरत है। अब करीब डेढ़ दर्जन वैक्सीन क्लीनिकल ट्रायल के फेज में पहुंच चुकी है। ट्रायल प्रक्रिया के परिणाम भी सकारात्मक आ रहे हैं। भारत में आईसीएमआर और भारत बायोटेक कंपनी सात जुलाई से कोरोना की वैक्सीन ‘कोवाक्सिन’ का ह्यूमन ट्रायल शुरू करने जा रही है। आईसीएमआर आगामी 15 अगस्त तक वैक्सीन लॉन्च करने की तैयारी में है।

इस बीच देश की एक और वैक्सीन को इंसानी ट्रायल की अनुमति मिल गई है। यह वैक्सीन गुजरात के अहमदाबाद की जाइडस कैडिला कंपनी ने बनाई है। भारत बायोटेक की ‘कोवाक्सिन’ के बाद अब अहमदाबाद स्थित फार्मास्यूटिकल कंपनी जाइडस कैडिला हेल्थकेयर लिमिटेड ने भी कोविड-19 वैक्सीन तैयार की है। कंपनी को ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया यानि डीसीजीआई ने इस वैक्सीन के इंसानों पर ट्रायल के लिए मंजूरी भी दे दी है

बतादें कि अभी पिछले दिनों हैदराबाद की भारत बायोटेक को इंसानी ट्रायल की अनुमति मिली थी और अब अहमदाबाद की इस कंपनी को भी डीजीसीआई ने इजाजद दे दी है। इसके साथ ही जाइडस कैडिला इंसानों पर परीक्षणों के लिए अनुमति हासिल करने वाली देश की दूसरी कंपनी बन गई है। जाइडस कैडिला कंपनी का दावा है कि उसकी इस वैक्सीन जानवरों पर किए गए ट्रॉयल में कारगर साबित हुई है। कंपनी ने जानवरों पर किए गए ट्रायल की रिपोर्ट ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया को सौंपी, जिसे देखते हुए डीजीसीआइ ने कंपनी को वैक्सीन के मानव परीक्षण के पहले और दूसरे चरण की मंजूरी दी।

समाचार एजेंसी पीटीआइ के मुताबिक, अहमदाबाद की जाइडस कैडिला कंपनी जल्द ही इंसानों पर वैक्सीन के ट्रायल के लिए इनरोलमेंट शुरू करेगी। बताया जा रहा है कि पहले और दूसरे चरण के ट्रायल को लगभग तीन महीनों में पूरा कर लिया जाएगा।

कोरोना के बिगड़ते हालात को देखते हुए शीर्ष दवा नियामक एजेंसी ने कंपनी को क्लीनिकल ट्रायल के लिए देर न करते हुए तुरंत मंजूरी दे दी। मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक, देश में तेजी से बढ़ रही कोरोना महामारी को देखते हुए विशेषज्ञ समिति की सिफारिश के बाद वैक्सीन और दवा के एप्रूवल प्रक्रिया को तेज किया गया है।

Leave a Reply