उत्तर बिहार में बारिश से उफनाई नदियां, बाढ़ का सताने लगा डर

पटना, एमएम : बिहार में माॅनसुन ने दस्तक दे दिया है। पिछले तीन दिन से बिहार के विभिन्न जिले में झमाझम बारिस हो रही है। शुक्रवार को पटना में भी जमकर बरसात हुई जिससे पटना के कई इलाकों में पानी जमा हो गया था। इसी तरह उत्तर बिहार में शुक्रवार और शनिवार को भी जमकर बारिश हुई। इससे जनजीवन अस्तव्यस्त हो गया। सड़कों पर जलजमाव से परेशानी बढ़ गई। वहीं, गंडक, कमला, कोसी और बागमती समेत अनेक नदियों के जलस्तर में तेजी से वृद्धि होने लगी है।  पश्चिम चंपारण में गंडक का जलस्तर एक लाख क्यूसेक पार चला गया है। इससे गंडक दियारा के निचले क्षेत्रों में पानी भर गया है। फसलों को क्षति होने लगी है। पीडी रिंग बांध से दो सौ फीट दूर गंडक की धारा आ गई है।

उधर, पूर्वी चंपारण, शिवहर, सीतामढ़ी, मुजफ्फरपुर, मधुबनी, दरभंगा, सहरसा, पूर्णिया सुपौल और समस्तीपुर में खूब बारिश हुई। इससे लोगों को गर्मी से तो राहत मिली लेकिन नदियों में बढ़ रहे जलस्तर को देखकर लोगों के मन में बाढ़ का डर सताने लगा है। हालांकि इस बारिश से मूंग की फसल को क्षति भी पहुंची। समस्तीपुर के उजियारपुर प्रखंड की चांदचौर पूर्वी पंचायत के वार्ड छह स्थित सहनी टोला के कई लोगों के घरों में बारिश का पानी घुस गया है। यहां बाढ़ जैसा नजारा दिख रहा है। शिवहर में भी सड़कों पर जलजमाव से लोग परेशान हैं। बागमती नदी के जलस्तर में 0.3 सेंटीमीटर वृद्धि दर्ज की गई है। दरभंगा शहर के कई कई इलाके झील में तब्दील हो गए हैं।

Leave a Reply