अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत मौत मामले में मुजफ्फरपुर में दर्ज दोनों परिवाद खारिज, फिल्मी हस्तियों ने ली राहत की सांस

मुजफ्फरपुर, एमएम : बिहार का लाडला और सेने जगत का हरफनमौला अभिनेता को इस दुनियां को अलविदा कहे हुए करीब एक महिना होने वला है। उनके प्रशंसक से लेकर दोस्त तक इस बात को स्वीकार नहीं कर पा रहे हैं कि सुशांत आत्महत्या कर सकता है। नेता से लेकर अभिनेता तक सीबीआई जांच की माँग कर रहे हैं। कई जगह केस भी दर्ज करवाए गए। इसी कड़ी में अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत के मौत मामले में मुजफ्फरपुर सीजेएम अदालत में दर्ज दो अलग-अलग परिवाद बुधवार को खारिज कर दिए गए। सीजेएम मुकेश कुमार ने घटना को क्षेत्राधिकार से बाहर बताते हुए दोनों परिवाद को खारिज कर दिया है। वादी सह अधिवक्ता सुधीर कुमार ओझा व अधिवक्ता कमलेश कुमार ने फैसले के खिलाफ जिला व सत्र न्यायालय में रीविजन पेटिसन दाखिल करने की बात कही।
बतादें कि सीजेएम कोर्ट के इस फैसले से आरोपी फिल्म निर्माता संजय लीला भंसाली, महेश भट्ट, मुकेश भट्ट, आदित्य चोपड़ा, करण जौहर, शाजिद नाडियावाल, एकता कपूर, भूषण कपूर, दिनेश विजयन, अभिनेता सलमान खान, रिया चक्रवर्ती व कृति सनन को राहत मिली है। मामले में सुनवाई के दौरान तीन जुलाई को सलमान खान के अधिवक्ता एनके अग्रवाल ने कोर्ट में हाजिर होकर वकालतनामा दाखिल की थी। इसके बाद कोर्ट ने दोनों परिवाद को आदेश पर रखा था।

मालूम हो कि एक परिवाद अधिवक्ता सुधीर कुमार ओझा ने 17 जून को संजय लीला भंसाली समेत आठ पर परिवाद दर्ज कराया था। इसके बाद उन्होंने 23 जून को महेश भट्ट समेत चार को आरोपी बनाने के लिए कोर्ट में अर्जी दाखिल की थी। जबकि पताही निवासी कुंदन कुमार ने 20 जून को कृति चक्रवर्ती पर परिवाद दर्ज कराया था।

हालांकि की इसका मतलब कतई नहीं निकाला जाना चाहिए कि बॉलीवुड में नेपोटिज्म और गैंगजिम खत्म हो गया है और इसके खिलाफ चल रहे मुहीम कमजोर पड़ जाएगा। अभी मुंबई पुलिस सुशांत सिंह केस में लगातार लोगों से पूछताछ कर रही है। परसों ही संजय लीला भंसाली से पूछताछ हुई है। सुशांत के हजारों फैन इस मुहीम में शामिल हैं कि सुशांत को न्याय मिलना चाहिए।

Leave a Reply