कोरोना के बीच फिर चमकी बुखार ने दिया दस्तक, मुजफ्फरपुर के एसकेएमसीएच अस्पताल में एक बच्ची की मौत, छह भर्ती

मुजफ्फरपुर, एमएम : बिहार अभी दोहरी आपदा का सामना कर रहा है। एक तरफ तो कोरोना की मार तो दूसरी तरफ बाढ़ का कहर। इसी बीच एक तीसरी आफद भी दस्तक दे दी है। मुजफ्फरपुर और आसपास के जिले में चमकी बुखार एक बार फिर आ गई है। हालांकि मुजफ्फरपुर  और नजदीक के जिले के लिए यह कोई नई बात नहीं है। करीब एक दशक से ज्यादा समय से इस क्षेत्र के लोग इससे जूझ रहे हैं। इस बीच मुजफ्फरपुर  के एसकेएमसीएच के पीकू वार्ड में रविवार को चमकी-बुखार से पीड़ित औराई के देकुली के सुरुचि कुमारी की मौत हो गई। उसे बीते शुक्रवार की सुबह भर्ती कराया गया था। वहीं, पीकू वार्ड में छह नये बच्चों को भर्ती किया गया है। डॉक्टरों ने बताया कि भर्ती बच्चों में चमकी-बुखार के लक्षण पाए गए हैं। फिलहाल लक्षण के आधार पर इलाज शुरू किया गया है। ब्लड सैंपल लेकर जांच के लिए पैथोलॉजी लैब में भेजा गया है।

भर्ती बच्चों में काजी मोहम्मदपुर थाना क्षेत्र का छह महीने का मो. सादिक, गायघाट के चोरनिया की 12 वर्षीया आरती कुमारी, मोतिहारी की सात वर्षीया रानी कुमारी व दस वर्षीय रवि कुमार, सीतामढ़ी के बाजपट्टी की सात वर्षीया साहिस्ता परवीन और गोपीनाथपुर का दस वर्षीय रंधीर कुमार शामिल है। एसकेएमसीएच अधीक्षक डॉ. सुनील कुमार शाही ने बताया कि पीकू वार्ड में एक बच्ची की मौत हो गई है। उसे तेज बुखार होने पर भर्ती कराया गया था।

Leave a Reply