बिहार में बढ़ते कोरोना पर तेजस्वी का तंज, सरकार को लोगों की जान से ज्यादा चुनाव की चिंता

पटना, एमएम : बिहार में चुनावी सरगर्मी बढ़ गई है। हरेक राजनीतिक दल अपने-अपने समीकरण साधने पर लगे में हैं। ऐसे में कोई भी मुद्दा पर विपक्षी दल सरकार को कटघरे में खड़ा करने से भला कहाँ चुकने वाली है। बिहार में कोरोना संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है। इसी पर सरकार को घेरते हुए नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने एक बार फिर दोहराया है कि सरकार को आमलोगों की जान से ज्यादा चिंता चुनाव की है। दावा किया है कि एक महीने में कोरोना संक्रमितों की संख्या छह गुना हो गई। लेकिन सरकार इस पर कोई ध्यान नहीं दे रही है।

नेता प्रतिपक्ष ने शनिवार को ट्वीट कर यह दावा किया है कि 14 मई को राज्य में कोरोना संक्रमितों की संख्या मात्र 970 थी और 14 जून को 6355 हो गई, यानी छह गुना वृद्धि हुई। लेकिन सरकार चुनाव की तैयारी में लगी है। आमलोगों को लगा था कि सरकार की प्राथमिकता अभी कोरोना से लोगों को बचाना है, अब ऐसे लोग भी निराश हो गये।

बतादें कि शनिवार को तेजस्वी यादव वैशाली के शहीद जय किशोर सिंह के घर जाकर उनके परिजनों से मुलाकात की और सांत्वना दिया। वहीँ तेजस्वी यादव ने कहा कि जल्द ही वह स्थानीय कार्यकर्ताओं की मदद से वैशाली के वीर शहीद जयकिशोर सिंह के नाम पर स्मारक और गेट निर्माण का कार्य शुरू करेंगे। नेता प्रतिपक्ष ने उनके घर जाकर शहीद के पिता से मुलाकात की और उन्हें सांत्वना दी।

हालंकि इस ट्वीट पर जबाब देते हुए प्रदेश जदयू के मुख्य प्रवक्ता संजय सिंह ने कहा है कि जनता अब तेजस्वी यादव की बात सुनने वाली नहीं है। महागठबंधन को जनता ने नीतीश कुमार के चेहरे पर जनादेश दिया था। जनादेश करप्शन के लिए नहीं दिया था। इतना ही नहीं संजय सिंह ने कहा अपराध के आंकड़े गिनवाने के लिए जब उंगलियां कम पड़ जाएं, तो उसे जंगलराज कहते हैं। आरोप लगाया कि राजद के शासनकाल में हत्या, अपहरण और बलात्कार के आंकड़े भले ही कागजों में दर्ज हों, लेकिन उस खौफ के दौर को लोग अभी तक महसूस करते हैं।

Leave a Reply