बिहार विधानसभा चुनाव में अब 65 साल से अधिक उम्र वाले पोस्टल बैलट के जरिए नहीं कर पाएंगे मतदान

पटना, एमएम : बिहार में इस साल के अंत तक विधानसभा चुनाव होने हैं। ऐसे में चुनाव आयोग अपनी तैयारियों में जुटा है। चुनाव आयोग की नजर राज्य में फैल रहे कोरोना संकट पर भी है। इसको भी ध्यान में रखकर कोई फैसला लिया जा रहा है। मिल रही जानकारी के अनुसार आगामी बिहार विधानसभा चुनाव में 65 साल से अधिक उम्र वाले मतदाता अब पोस्टल बैलट के जरिए मतदान नहीं कर पाएंगे। चुनाव आयोग ने चुनौतियों का हवाला देते हुए अपना हाथ पीछे खींच लिया है। अब सिर्फ 80 साल से अधिक उम्र वाले, दिव्यांग और कोरोना वायरस से ग्रसित लोग ही पोस्टल बैलट के जरिए मतदान कर पाएंगे। यह नियम बिहार चुनाव के अलावा अन्य उपचुनावों पर भी लागू होगा।

चुनाव आयोग ने अपने बयान में कहा है कि कोरोना वायरस के कारण उत्पन्न हुई स्थितियों के बाद हमने कई बदलाव किए हैं। लोगों की सुविधा और खासकर बुजुर्गों का ध्यान रखते हुए पहले ही हमने हर मतदान केंद्र पर 1000 मतदाताओं की संख्या तय कर दी है। किसी भी मतदान केंद्र पर एक हजार से अधिक मतदाता नहीं होंगे। चुनाव आयोग का कहना है कि हमने कोरोना को ध्यान में रखते हुए पहले ही 34 हजार अतिरिक्त मतदान केंद्र बना दिया है। हम पोलिंग स्टेशन की संख्या बढ़ाकर एक लाख से अधिक करने की योजना भी बना रहे हैं।

बता दें कि कानून और न्याय मंत्रालय ने चुनाव आयोग की सिफारिश पर 19 जून को नियमों में संशोधन करते हुए 65 साल से अधिक उम्र वाले मतदाताओं को पोस्टल बैलट के जरिए मतदान करने की अनुमति दे दी थी। चुनाव आयोग ने कोरोना वायरस महामारी के कारण बनी स्थितियों को ध्यान में रखते हुए यह फैसला लिया था, जिस पर सरकार की मुहर भी लग गई थी। हालांकि अब चुनौतियों के कारण चुनाव आयोग ने इसे फिलहाल रोकने का फैसला किया है। पोस्टल बैलट के जरिए सशस्त्र बल और चुनाव कार्य में लगे अधिकारी ही मतदान कर सकते थे।

Leave a Reply