बिहार के 12 पंचायतों को राष्ट्रीय पुरस्कारों से किया गया सम्मानित

पटना ,एमएम : बिहार में पंचायती राज व्यवस्था को ठीक करने के लिए राज्य सरकार समय-समय पर कुछ ना कुछ करती रहती है। ऐसा भी नहीं है की हर पंचायत में कुछ भी काम नहीं होता हो। बिहार के कुछ पंचायत वाकई मिशाल पेश कर रहें हैं। कुछ अच्छा होता है तो जरूरी है उनका हौसला अफजाई करना। इसलिए कुछ पुरस्कार का भी प्रावधान है। इसी कड़ी में बिहार की 12 पंचायतें, पंचायत समितियां और जिला पार्षद ने राष्ट्रीय पुरस्कार हासिल किया है। इनमें सात पंचायत, चार पंचायत समितियां और एक जिला परिषद शामिल हैं। पंचायती राज विभाग के अपर मुख्य सचिव अमृत लाल मीणा ने बताया कि जिन पंचायतों को राष्ट्रीय पुरस्कारों से सम्मानित किया गया है, उनमें नानाजी देशमुख राष्ट्रीय ग्राम गौरव सम्मान समस्तीपुर जिले के रोसड़ा प्रखंड की मोथीपुर पंचायत को दिया गया है। औरंगाबाद जिले की कुटुंबा पंचायत को बाल हितैषी ग्राम पंचायत पुरस्कार मिला है।

दरभंगा जिले की केवटी पंचायत को ग्राम पंचायत विकास योजना पुरस्कार दिया गया है। औरंगाबाद जिला पार्षद, पटना जिले की मसौढ़ी पंचायत समिति, रोहतास जिले की अकोढ़ीगोला पंचायत समिति, औरंगाबाद जिले की कुटुंबा पंचायत समिति व रफीगंज पंचायत समिति को दीन दयाल उपाध्याय पंचायत सशक्तीकरण पुरस्कार से नवाजा गया है। इसी प्रकार से भोजपुर जिले के जगदीशपुर प्रखंड की दावा पंचायत, दरभंगा जिले के सिंहवारा प्रखंड की रामपुर पंचायत, औरंगाबाद जिले की मदनपुर पंचायत, और मुजफ्फरपुर जिले के सकरा प्रखंड की भरथीपुर पंचायत को दीन दयाल उपाध्याय पंचायत सशक्तीकरण पुरस्कार दिया गया है।

Leave a Reply