बिहार के 31 अतिविशिष्ट व्यक्तियों को मिली विशेष सुरक्षा घेरा, नीतीश, लालू, मांझी को Z प्लस तो तेजस्वी को मिला Y प्लस

पटना/दिल्ली : बिहार मे चुनावी बिगुल बज चुकी है। ऐसे मे राजनीतिक समीकरण के साथ सीट बँटवारा पर माथापच्ची चल रही है। इस बीच एक बड़ी खबर मिल रही है कि भारत सरकार के गृह मंत्रालय ने बिहार के 31 अतिविशिष्ट व्यक्तियों को विभिन्न श्रेणी का सुरक्षा घेरा प्रदान किया गया है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और राज्यपाल फागू चौहान को पहले की तरह जेड प्लस के साथ एडवांस सिक्यूरिटी लाइजनिंग (एएसएल) प्रोटेक्टी का सुरक्षा घेरा रहेगा। वहीं पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव, राबड़ी देवी के साथ जीतन राम मांझी को जेड प्लस का सुरक्षा घेरा दिया गया है। बतादें कि राज्य सुरक्षा समिति की 21 सितम्बर को हुई बैठक में की गई अनुशंसा के बाद गृह विभाग ने आदेश जारी कर दिया है।

इधर उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी, सांसद राजीव रंजन सिंह उर्फ ललन सिंह, पूर्व सांसद सैयद शाहनवाज हुसैन, केन्द्रीय मंत्री रामविलास पासवान, सांसद एवं जदयू के प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह, मंत्री अशोक चौधरी और पूर्व सांसद शत्रुघ्न सिन्हा को जेड श्रेणी का सुरक्षा घेरा मिलेगा। वहीं लोकसभा की पूर्व स्पीकर मीरा कुमार और नेता विरोधी दल तेजस्वी प्रसाद यादव वाई प्लस के सुरक्षा घेरे में रहेंगे। वाई प्लस का सुरक्षा घेरा इन्हीं दो नेताओं को दिया गया है

इससे इतर राज्य सुरक्षा समिति की अनुशंसा के आलोक में 17 अतिविशिष्ट व्यक्तियों को वाई श्रेणी की सुरक्षा दी गई है। इनमें पटना उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश, पूर्व मंत्री नरेन्द्र सिंह, पूर्व मंत्री व सांसद अखिलेश प्रसाद सिंह, पूर्व सांसद शरद यादव, पूर्व मंत्री शकील अहमद, सांसद पशुपति कुमार पारस, पूर्व विधायक रणविजय सिंह, सांसद सुशील कुमार सिंह, पूर्व मंत्री पीके शाही, पूर्व केन्द्रीय मंत्री राजीव प्रताप रुढ़ी, पूर्व केन्द्रीय मंत्री राधामोहन सिंह, केन्द्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद, एमएलसी मदन मोहन झा, केन्द्रीय गृह राज्यमंत्री नित्यानंद राय, पूर्व मंत्री तेज प्रताप यादव को वाई कैटेगरी की सुरक्षा दी गई है। वहीं पूर्व मंत्री अनिल कुमार को एक्स श्रेणी का सुरक्षा घेरा मिला है।

Leave a Reply