ओछी राजनीति ना करें राहुल गांधी, चीन पर 1962 से लेकर मौजूदा हालात पर संसद में बहस को तैयार है सरकार : अमित शाह

दिल्ली, एमएम : चीन के मुद्दे पर लगातार केंद्र सरकार को घेर रहे कांग्रेस के युवराज राहुल गाँधी पर देश के गृहमंत्री अमित शाह ने करारा जबाब दिया है । केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी पर चीन के मुद्दे पर ओछी राजनीति करने का आरोप लगाया है। साथ ही उन्होंने कहा कि सीमा पर तनाव के बीच से राहुल गांधी ने चीन और पाकिस्तान को पसंद आने वाला दिया है। अमित शाह ने कहा कि सरकार इस मुद्दे पर सरकार संसद में बहस के लिए तैयार है। 1962 से लेकर अब तक की स्थिति पर हो जाए ‘दो-दो हाथ’।

दरअसल गृहमंत्री अमित शाह समाचार एजेंसी एएनआई को दिए इंटरव्यू में अमित शाह ने कहा, ‘राहुल गांधी को उनके हैशटैग #Surender Modi के लिए आत्मचिंतन करना चाहिए। उनके हैशटैग को चीन और पाकिस्तान में काफी प्रोत्साहित किया जा रहा है।’

उन्होंने कहा कि सरकार भारत विरोधी प्रचार को संभालने में पूरी तरह से सक्षम थी, लेकिन यह तब दर्दनाक था जब इतने बड़े राजनीतिक दल के एक पूर्व अध्यक्ष संकट के समय ओछी राजनीति करने में लगे थे।

अमित शाह ने कांग्रेस के उस आरोप का भी जवाब दिया, जिसमें बीजेपी के अंदर लोकतंत्र नहीं होने की बात कही गई थी। अमित शाह ने कहा, ‘इंदिरा गांधी के बाद से आज तक कोई भी गांधी परिवार से इतर कांग्रेस का अध्यक्ष नहीं बना है। बीजेपी में लालकृष्ण आडवाणी के बाद राजनाथ सिंह, नितिन गडकरी, फिर राजनाथ सिंह, मैं और अब जेपी नड्डा अध्यक्ष हैं। इसमें से कोई एक ही परिवार से है क्या?’

 

अपने साक्षत्कार में उन्होंने कहा कि आपातकाल को लोगों को किया जाना चाहिए क्योंकि इसने हमारे लोकतंत्र की जड़ों पर हमला किया। किसी भी राजनीतिक कार्यकर्ता या नागरिक को नहीं भूलना चाहिए। इसके बारे में जागरूकता होनी चाहिए। यह किसी पार्टी के बारे में नहीं बल्कि देश के लोकतंत्र पर हमले के बारे में है।

अमित शाह ने दिल्ली में कोरोना के हालात पर साफ साफ कहा कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से हर मुद्दे पर बात की जाती है। वह निर्णय लेने में भी शामिल हैं। कुछ राजनीतिक बयान दिए गए हैं, लेकिन निर्णय लेने पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा। मनीष सिसोदिया के बयान के बाद प्रधानमंत्री ने मुझसे, गृह मंत्रालय से, दिल्ली सरकार की मदद करने के लिए भी कहा। इसके तुरंत बाद, एक समन्वय बैठक बुलाई गई और कई निर्णय लिए गए, जिसमें सभी क्षेत्रों के परीक्षण शामिल थे।

Leave a Reply