बिहार में बाढ़ : 20 और पंचायतों में घुसा पानी, 16 जिलों की 75 लाख आबादी बाढ़ से प्रभावित , बाढ़ के पानी में डूबने से 15 की मौत

पटना, एमएम : बिहार में बाढ़ का कहर एक बार फिर बरपने वाला है। नेपाल के तराई क्षेत्र में लगातार हो रहे बारिश और उत्तर बिहार में रुक रुक कर हो रहे वर्षा के चलते एक बार फिर नदियों के जलस्तर में वृद्धि देखि जा रही है है। आलम यह है कि बाढ़ ने राज्य के 20 और पंचायतों को प्रभावित कर दिया है। आपदा प्रबंधन विभाग की माने तो अब 16 जिलों के 126 प्रखंडों की 1260 पंचायतों की 75 लाख आबादी बाढ़ से प्रभावित हो चुकी है। आपदा प्रबंधन विभाग के अपर सचिव रामचंद्रडु ने प्रेस कांफ्रेंस में बताया कि बाढ़ पीड़ितों की सहायता के लिए युद्ध स्तर पर राहत एवं बचाव कार्य चलाए जा रहे हैं।

उन्होंने कहा कि छह लाख 69 हजार बाढ़ पीड़ित परिवारों के खाते में छह-छह हजार की राशि भेज दी गई है। यह राशि 401 करोड़ है। शेष पीड़ितों के खाते में सहायता राशि भेजने की कार्रवाई चल रही है। आपदा सचिव के मुताबिक बाढ़ प्रभावितों के लिए राज्य में 1204 सामुदायिक किचेन चलाए जा रह हैं, जहां पर अभी प्रतिदिन नौ लाख 30 हजार लोगों को भोजन कराया जा रहा है। सात राहत केन्द्र भी चलाए जा रहे हैं, जहां पर 12500 लोग रह रहे हैं।

डूबने से 15 लोगों की गयी जान

इधर मंगलवार को प्रदेश में पानी में डूबने से 15 लोगों की मौत हो गयी। मिली जानकारी के अनुसार मुजफ्फरपुर जिले के कुढ़नी थाने की किसुनपुर मधुवन पंचायत में बाढ़ के पानी में डूबने से दो बच्चों की मौत हो गयी। वहीं, पश्चिम चंपारण के मझौलिया में सिकरहना नदी में डूबने से दो बच्चों, जबकि दरभंगा जिले के सिंहवाड़ा में बाढ़ के पानी में डूबने से दो अधेड़ की मौत हो गयी। इधर, सीवान के दरौंदा में तीन बच्चियां डूब गयीं, जिनमें एक का शव बरामद हो चुका है। वहीं, लकड़ीनवीगंज में एक बच्ची व सिसवन में एक किशोर की डूबने से मौत हो गयी। जबकि कटिहार के बलरामपुर में सेल्फी लेने के दौरान पुल से नदी में गिरने से युवक की डूबने से मौत हो गयी। सारण जिले के तरैया में एक महिला, गोपालगंज के बैकुंठपुर में एक युवक व जहानाबाद के काको में एक व्यक्ति, जबकि औरंगाबाद के देव में मामा-भांजे की डूबने से मौत हो गयी।

Leave a Reply