डीएमसीएच ने पहली बार कोरोना जांच के लक्ष्य को किया पार, अस्पताल में हुई कोरोना से पहली मौत, विभाग में मचा हड़कंप

दरभंगा, एमएम :  डीएमसीएच के लेबोरेटरी में आधा दर्जन से अधिक जिलों के कोरोना संदिग्ध मरीजों के नमूने की जांच पहली बार लक्ष्य के पार की गई। बीएसएल थ्री लेबोरेटरी में 575 नमूने की जांच हुई है। इसके पहले सरकार ने मात्र 515 नमूने की ही जांच करने का लक्ष्य दिया था। स्वास्थ्य विभाग ने यह लक्ष्य 8 जून से दिया था। हालांकि इस बीच करीब आधा दर्जन जिलों से नमूने आने की संख्या कम हो गई थी। इसी दौरान कई दिन नमूने की जांच का बैकलॉग रहता था। इस बीच दिए गए लक्ष्य के मात्र 70 प्रतिशत यानि 250 से 300 तक नमूने की जांच हो रही थी। विभागाध्यक्ष की सख्ती के बाद लक्ष्य की पूर्ति हुई है। इधर, सरकार की ओर से भेजे गए नए मशीन के लिए जांच किट की आपूर्ति के लिए आपूर्तिकर्ता को आदेश निर्गत कर दिया गया है। जांच किट आने के बाद एक मशीन पर लोड काफी कम हो जाएगा। मालूम हो कि माइक्रोबायोलॉजी में कई तकनीकी कारणों को लेकर आठ जिलों के नमूने की जांच करीब एक पखवाड़े से अधिक दिनों से धीमी गति से चल रही थी।

बतादें कि अभी तक 21 हजार नमूने की जांच हुई है। इस लेबोरेटरी में गत तीन माह में 21 हजार नमूने की जांच हो चुकी है। इसमें 1076 मरीजों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। इसमें सबसे अधिक किशनगंज, सहरसा, दरभंगा और सुपौल के नमूने की जाच हुई है।

इधर कोरोना से 45 वर्षीया महिला की डीएमसीएच के मेडिसिन विभाग के वार्ड में मौत हो गई। महिला की मौत के बाद रिपोर्ट आई है। इससे विभाग में हड़कंप मच गया है। सार्स सारी वार्ड में दो अन्य पॉजिटिव मरीज मिलें हैं और अब उन दोनों मरीजों को पटना रेफर किया जा रहा।  स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक अभी तक दरभंगा जिले के नौ लोगों की कोरोना से मौत हो चुकी है। इनमें से एक की मौत पूर्व में हनुमाननगर में घर पर हो चुकी है। सात अन्य की मौत पटना व दूसरे स्थानों पर हुई है।

One Reply to “डीएमसीएच ने पहली बार कोरोना जांच के लक्ष्य को किया पार, अस्पताल में हुई कोरोना से पहली मौत, विभाग में मचा हड़कंप”

Leave a Reply