भारी बारिश के कारण नदियां उफान पर, बिहार के कई जिलों में मंडराया बाढ़ का खतरा

पटना, एमएम : बिहार में मानसून की दस्तक के बाद से बारिश का दौर लगातार जारी है। राजधानी पटना समेत कई जिलों में रुक-रुक कर बारिश हो रही है। इस बीच मौसम विभाग ने बिहार के अधिकतर जिलों में अगले 30 जून तक तक बारिश का अलर्ट जारी किया है। लगातार बारिश की वजह से बिहार की कई नदियों का जलस्तर बढ़ने लगा है। मौसम विभाग ने भी बारिश और बाढ़ के मद्देनजर बिहार के करीब कई जिलों को अलर्ट पर रखा है।

मौसम विभाग के मुताबिक बिहार में मॉनसून दो दशक बाद इतना सक्रिय नजर आ रहा है। 11 वर्ष बाद मानसून समय पर बिहार पहुंचा है। इधर, बंगाल की खाड़ी में चक्रवात उठने के कारण भारी वर्षा दर्ज की गयी है। ऐसे में दो दिन पहले हुए भारी वज्रपात के बाद यहां बाढ़ का खतरा बना हुआ है। मौसम विभाग ने अगले 48 घंटे भारी बारिश का हाई अलर्ट जारी किया है। पश्चिमी-पूर्वी चंपारण, गोपालगंज, सीवान, अररिया, किशनगंज समेत अन्य जिलों में रेड अलर्ट जारी की गई है। इन क्षेत्रों में ठनका गिरने की चेतावनी भी दी गई है। डॉ ए सत्तार मौसम वैज्ञानिक विज्ञानी,पूसा का कहना है कि बिहार में इससे पहले मॉनसून इतना सक्रिय कभी नहीं रहा है। किसानों को इस बारिश का फायदा उठाना चाहिए।

बतादें कि करीब दो दशक बाद बिहार में मॉनसून बेहद सक्रिय अवस्था में है। उसकी सक्रियता का आलम यह है कि प्रदेश में आगामी 72 घंटे में औसतन 100 मिलीमीटर से अधिक बारिश होने की संभावना है। इसको लेकर पूरे राज्य में अलर्ट घोषित किया गया है. कुछ जिलों मसलन पश्चिमी-पूर्वी चंपारण, गोपालगंज, सीवान, अररिया, किशनगंज और कुछ अन्य जिलों में रेड अलर्ट जारी किया गया है। ठनका गिरने को लेकर भी अगाह किया गया है। मुख्य सचिव दीपक कुमार ने भी राज्य के बाढ़ संभावित जिलों को भारी बारिश की आशंका को देखते हुए अलर्ट किया है।

अररिया में बकरा और नूना नदी के जलस्तर में वृद्धि से ग्रामीण भयभीत होने लगे है। वहीं कटिहार में महानंदा नदी में पानी के दवाब से स्पर 15 का नोज ध्वस्त हो गया है। महानंदा नदी के तटबंध का अतिसंवेदनशील स्पर 15 महानंदा के बढ़ते जल स्तर के बीच शनिवार की देर रात स्पर का नोज 40 से 50 मीटर की परिधि में ध्वस्त हो गया है। जिसके बाद से स्थानीय लोग और तटवर्ती इलाकों में बसे लोग डरने लगे हैं।

इधर मानसून शुरू होते ही गंगा, कोसी और बरंडी नदी के जलस्तर में भी वृद्धि दर्ज की गयी। बाढ़ नियंत्रण प्रमंडल के अनुसार, गंगा नदी के रामायणपुर में शनिवार की सुबह 24.39 मीटर हो गया। बरंडी नदी का जलस्तर एनएच-31 के डूमर पर शनिवार को 27.92 मीटर दर्ज किया गया। कोसी नदी का जलस्तर कुरसेला रेलवे ब्रिज पर शनिवार की सुबह बढ़कर 27.15 मीटर हो गया।

Leave a Reply