कोरोना काल में दरभंगा पॉलिटेक्निक का परीक्षा केंद्र बरौनी बनाए जाने से छात्रों में आक्रोश, धरना प्रदर्शन जारी

दरभंगा, एमएम : आज पूरा देश कोरोना की चपेट में है। बिहार भी इससे अछूता नहीं है। ऐसे में छात्रों की पढाई पर भी इसकी मार पड़ रही है। आलम यह है कि विभिन्न संकाय के अंतिम वर्ष के छात्रों के लिए परीक्षा देना मुश्किल लग रहा है। इधर राज्य प्रावैधिक शिक्षा परिषद की ओर से सभी राजकीय पॉलिटेक्निक और राजकीय महिला पॉलिटेक्निक कॉलेज में अंतिम वर्ष की परीक्षा को ले सभी केंद्राधीक्षकों को परीक्षा केंद्र निर्धारित करने के आदेश के बाद दरभंगा के कादिराबाद स्थिति राजकीय पॉलिटेक्निक के करीब 240 बच्चों का परीक्षा सेंटर बरौनी कर दिया गया है। जिस कारण छात्रों में नाराजगी है। बतादें कि विभागीय आदेश के मुताबिक सितंबर के अंतिम सप्ताह तक पॉलिटेक्निक की परीक्षाएं ले ली जाएगी।

इधर छात्रों ने इस फैसले को वापिस लेने का मांग किया है। लेकिन पॉलिटेक्निक प्रशासन के द्वारा किसी तरह का आश्वासन नहीं मिलने पर छात्र 27 अगस्त से लगातार धरना प्रदर्शन कर रहे हैं। छात्रों ने कॉलेज के मुख्य कैंपस के प्रशासनिक भवन के बाहर बैनर-पोस्टर के साथ धरना पर बैठ गए हैं। छात्रों का कहना है कि कोरोना जैसी वैश्विक महामारी के बीच शिक्षा परिषद ने राजकीय पॉलिटेक्निक दरभंगा का परीक्षा केंद्र बरौनी जिला में बनाया है। कोरोना काल के बीच शिक्षा विभीग की ओर से लिया गया फैसला छात्र-छात्राओं के हित में नहीं है।  खाने-पीने और रहने की दिक्कतें होगी। यह राजकीय पॉलिटेक्निक के छात्र-छात्राओं के साथ राज्य प्रावैधिक शिक्षा परिषद अन्याय कर रहा है। ऐसी स्थिति में होम सेंटर सबसे अच्छा विकल्प साबित होगा।

जाहिर है कोरोना के कारण बच्चों को रहने की व्यवस्था में दिक्कतें होगी। आखिर करीब 20 दिनों तक चलने वाली परीक्षा के दौरान छात्र कहाँ रहेंगे। अभी बिहार में सही से ट्रांसपोर्ट सेवा भी नहीं चल रही है। ऐसे में करीब डेढ़ सौ किलोमीटर सफर तय कर छात्र कैसे परीक्षा देगा।

अब छात्र सेंटर बदलने की मांग के साथ लगातार धरने पर बैठे है। इससे परीक्षा देने वाले 239 छात्र-छात्राओं को दिक्कतों का सामना उठाना पर सकता है। छात्रो का कहना है जबतक बरौनी से परीक्षा केंद्र को स्थानांतरित नहीं किया जाता तब तक विद्यार्थियों का विरोध प्रदर्शन जारी रहेगा।

इधर राजकीय पॉलिटेक्निक, कादिराबाद के प्राचार्य बी.के राय का कहना है कि कॉलेज के विद्यार्थियों ने सेंटर स्थानांतरित करने की मांग की है। इसके लिए आवेदन दिया है। विद्यार्थियों का आवेदन राज्य प्रावैधिक शिक्षा परिषद को भेजा गया है।

Leave a Reply