वर्दी हुई शर्मशार, नाबालिग को लेकर भागा बिहार पुलिस का सिपाही, और…

मधेपुरा, एमएम : कहते हैं पुलिस समाज का रक्षक होता है और उचित अनुचित का फैसला करता है। लोगों को मुसीबतों में मदद करता है। आमतौर पर पुलिस के प्रति यही अवधारणा रहती है। लेकिन बीतते समय के साथ लोगों की सोच बदलती चलि गई। इसका सबसे बड़ा कारण है पुलिस के व्यवहार में बदलाव। घुसखोरी और रौब के बढ़ते चलन ने पुलिस के छवि को कहीं ना कहीं नुकसान पहुँचाया है। हालांकि हरेक दौर में पुलिस के वर्दी पर किसी ना किसा कारण से दाग लगती रही है।

फिलहाल ताजा मामला बिहार के मधेपुरा जिला से सामने आया है। जिले के कुमारखंड थाने के टेंगराहा ओपी में पदस्थापित सिपाही पड़ोस की नाबालिग लड़की को लेकर फरार हो गया। दरअसल बिहार पुलिस के सिपाही नागेंद्र यादव को पड़ोस में डीजे कार्यक्रम के दौरान आयी पड़ोसी अनमोल सरदार की नाबालिग (जिसकी उम्र 14 साल बताई जा रही है) से भतीजी से नैना चार हो गया और उसी रात लड़की को लेकर ओपी से फरार हो गया। डीजे कार्यक्रम देख कर लड़की के घर नहीं लौटने पर परिजनों को आशंका हुई, तो लड़की की तलाश शुरू हुआ। लेकिन, लड़की का पता नहीं चल सका। पता नहीं चलने पर लोगों को ओपी के सिपाही पर संदेह हुआ। इस दौरान लोगों ने ओपी के सिपाहियों से भी पूछताछ की। पूछताछ में लोगों को पता चला कि सिपाही नागेंद्र यादव कहीं गया है। इस पर लोगों का शक अब यकीन में बदल गया।

सोमवार की सुबह सिपाही ने लड़की को अहले सुबह घर पर छोड़ दिया। लड़की के घर पहुंचते ही लोग आक्रोशित हो गये और भतनी ओपी के घेराव की योजना बनाने लगे। इसके बाद वरीय पदाधिकारी के आदेश पर ओपी प्रभारी ने सिपाही और लड़की को कब्जे में लेकर कुमारखंड थाना आ गये। इसी दौरान लड़की के परिजन समेत ग्रामीण भी थाना पहुंच कर सिपाही के विरुद्ध विवाह की नीयत से भगा कर ले जाने के आरोप में आवेदन दिया।

लड़की के चाचा के आवेदन पर ओपी प्रभारी द्वारा थाना में कांड संख्या-171/20 धारा-363, 367 (बी) एवं पॉक्सो एक्ट सहित अनुसूचित जाति जनजाति अत्याचार अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया। साथ ही आरोपित सिपाही को गिरफ्तार कर भेज दिया गया। घटना की सूचना पर अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी वसी अहमद पुलिस निरीक्षक सदर प्रभाग, मधेपुरा जयप्रकाश चौधरी कुमारखंड थाना पहुंच कर घटना के संबंध में लड़की एवं सिपाही के साथ-साथ परिजनों एवं ग्रामीणों से पूछताछ की।

इस संबंध में एसडीपीओ ने बताया कि आरोपित सिपाही के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज कर ली गयी है। लड़की को मेडिकल जांच के लिए भेजा जा रहा है। इसके विरुद्ध सरकारी सेवा संहिता के तहत कार्रवाई की जायगी और सेवा मुक्त किया जायेगा।

बताया जाता है कि आरोपित सिपाही ने लड़की को दो रात बहन के घर रखा। पूछताछ के दौरान सिपाही ने लड़की को बिहारीगंज थाने के मंजौरा गांव स्थित बहन के घर दो रात रखने की बात बतायी। मालूम हो कि आरोपी सिपाही दो बच्चे का पिता है। जानकारी के मुताबिक कुछ दिन पूर्व ही टेंगराहा ओपी में उसकी प्रतिनियुक्ति हुई है।

Leave a Reply