भारत-चीनी सेना के बीच हिंसक झड़प में बिहार के तीन जवान शहीद, विशेष विमान से बुधवार को पटना पहुंचेगा जवानों का शव

पटना, एमएम :  सोमवार देर रात हुई भारत-चीन सीमा विवाद को लेकर गलवन घाटी  में हुए खूनी झड़प में बिहार के तीन जवानों ने भी अपनी शहादत दी है। बुधवार तीन बजे के बाद जवानों का शव विशेष विमान से पटना पहुंचेगा। इसका इंतजार जारी है। जवानों की शहादत पर पूरे बिहार को गर्व है। भारत-चीन सीमा पर 20 सैनिकों की शहादत पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शोक जताया है।

मुख्यमंत्री ने अपने शोक संदेश में कहा कि देश इन शहीदों के बलिदान को हमेशा याद रखेगा। वह इस घटना से काफी मर्माहत हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि बिहार के शहीद जवानों का अंतिम संस्कार राज्य सरकार की ओर से पुलिस सम्मान के साथ किया जाएगा।

बतादें कि लद्दाख के गलवान घाटी में चीन से खूनी झड़प में बिहार के तीन लाल सुनील कुमार, अमन और कुंदन कुमार ने शहादत दी थी। सुनील कुमार पटना के बिहटा प्रखंड में सिकरिया पंचायत के तारानगर निवासी हैं। सपूत के शहीद होने की सूचना से पूरे गांव में मातम है। उनका शव बुधवार को तीन बजे विशेष विमान से पटना एयरपोर्ट आएगा। और वहां से सड़क मार्ग से शहीद का शव गांव लाया जाएगा।

भारत और चीन के बीच हुए हिंसक झड़प में समस्तीपुर ने भी अपना एक लाल खो दिया है। समस्तीपुर जिला के मोहिउद्दीन नगर प्रखंड के सुल्तानपुर गांव के रहने वाले सुधीर कुमार सिंह के पुत्र अमन कुमार सिंह जो बिहार रेजीमेंट में कार्यरत थे चीनी सैनिकों के साथ हुए झड़प में शहीद हो गए। अमन की शहादत की खबर परिवार वाले और ग्रामीणों को रात के लगभग 10:30 बजे मिली जब भारत चीन बॉर्डर से ही भारतीय सेना के किसी अधिकारी ने फोन करके परिजनों को यह सूचना दी। प्राप्त जानकारी के मुताबिक शहीद अमन कुमार सिंह की शादी एक साल पहले ही पटना जिले के बाढ़ के राणा विद्या गांव में हुई थी। परिवार के लोगों और ग्रामीणों को अपने घर के चिराग खोलने का जहां गम हैं, वहीं अमन की शहादत पर घरवाले और गांव के लोग फक्र महसूस कर रहे हैं।

मंगलवार की देर रात भारत-चीन सीमा पर सहरसा जिले की विशनपुर पंचायत के आरण गांव के एक वीर कुंदन कुमार के शहीद होने की सूचना मिली है। सूचना मिलने के बाद गांव के लोग स्तब्ध हैं। परिजनों ने खबर की पुष्टि करते हुए कहा कि फोन से सूचना मिली है।

Leave a Reply