बनने लगे नए सियासी समीकरण, राजद के साथ चुनाव लड़ेंगे वाम दल, कांग्रेस ने प्रत्याशी चुनने के लिए बनाई कमेटी, मांझी ने की नीतीश से मुलाकात

पटना, एमएम : बिहार में अक्टूबर नवम्बर में विधानसभा चुनाव प्रस्तावित है। लिहाजा राजनीतिक समीकरण बनने लगे हैं। विधानसभा चुनाव में एनडीए को सत्ता से हटाने के लिए राजद और वामदल ने पूर्ण तालमेल के साथ संयुक्त प्रत्याशी उतारने पर सहमति जताई। राजद ने कहा कि तेजस्वी यादव के नेतृत्व में जो भी दल आना चाहेंगे, सबका स्वागत है। प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद से भाकपा के प्रभारी राज्य सचिव राम नरेश पांडेय और माकपा राज्य सचिव अवधेश कुमार ने तालमेल पर बात की। सहमति बनी कि विपक्षी वोट के बिखराव को रोकने के लिए संयुक्त प्रत्याशी जरूरी है। पांडेय ने कहा कि सीटों के बंटवारे पर जल्द सहमति बन जाएगी। बिहार चुनाव पर नजर रख रहे चुनावी विश्लेषकों का मानना है कि राजद-वाम तालमेल से 25 से अधिक सीटों पर फायदा मिल सकता है। बेगूसराय, गया, जहानाबाद, भोजपुर, मधुबनी, सीतामढ़ी, सीवान, शिवहर जिले में वामदलों का अधिक प्रभाव है।

इधर कांग्रेस ने भी दम ख़म से चुनाव लड़ने का ऐलान कर दिया है। इसी के तहत योग्य उम्मीदवारों के चयन के लिए कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव केसी वेणुगोपाल ने 6 सदस्यीय स्क्रीनिंग कमेटी बना दी है। इस कमिटी के अध्यक्ष अविनाश पांडेय होंगे। देवेंद्र यादव और काजी निजामुद्दीन कमेटी के दो मुख्य सदस्य हैं। वहीं पदेन सदस्य के रूप में बिहार प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल, प्रदेश अध्यक्ष मदन मोहन झा और सीएलपी लीडर सदानंद सिंह भी रहेंगे।

दूसरी तरफ गठबंधन छोड़ चुके  हम’ के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष जीतन राम मांझी ने गुरुवार को मुख्‍यमंत्री आवास पहुंचकर नीतीश कुमार से मुलाकात की। इस अहम मुलाकात के बाद माना जा रहा है कि राष्‍ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन में शामिल उनका शामिल होना लगभग तय है। हालांकि,नीतीश से मुलाकात के बाद मांझी ने कहा कि आज हमारे बीच कोई राजनीतिक बात नहीं हुई है। हमने अपने क्षेत्र के मुद्दों को लेकर मुख्‍यमंत्री से  बात की है। जब पत्रकारों ने उनके एनडीए में शामिल होने की बात पूछा तो उन्‍होंने कहा कि 30 अगस्‍त को पूरी पिक्‍चर साफ हो जाएगी।

Leave a Reply