बिहार को प्रधानमंत्री मोदी ने फिर दी चुनावी सौगात, बोले- कोशिश यही कि विकास की उड़ान भरे बिहार

दिल्ली/पटना, एमएम : बिहार में विधानसभा का चुनाव होने वला है। ऐसे में शिलान्यास और उद्घाटन का काम जोरों पर है। राजनीतिक दलें चुनाव प्रचारों में अपनी ताकतें आजमाना शुरू कर चुकी है। चुनाव कोरोना काल के समय भी अपने समय पर ही होगा यह तय हो चुका है। लेकिन तारीखों का ऐलान अभी बांकि है। वहीं पीएम मोदी का बिहार में परियोजनाओं के उदघाटन को लेकर ऐसे कयास लगाए जा रहे हैं कि अब पूरी तरह चुनावी रंग में रंगने वाला है और जल्द ही चुनाव की तारीख भी सामने आ सकती है। सरकार अब राज्य के लिए विकास परियोजनाओं को आगे बढ़ा रही है। इन परियोजनाओं में पारादीप-हल्दिया-दुर्गापुर पाइपलाइन परियोजना का दुर्गापुर-बांका खंड और दो एलपीजी बॉटलिंग संयंत्र शामिल हैं। इसी क्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को बिहार में 901 करोड़ रुपए के विकास कार्यों का उद्घाटन और शिलान्यास किया।

शिलान्यास कार्यक्रम के दौरान प्रधानमंत्री ने कहा जब मैं कहता हूं कि बिहार देश की प्रतिभा का पॉवर हाउस है, तो ये कोई अतिश्योक्ति नाम की चीज नहीं होनी चाहिए। बिहार के युवाओं की प्रतिभा का प्रभाव चारों ओर नजर आता है। उन्होंने कहा कि बिहार में बिजली की क्या स्थिति थी, ये अब जगजाहिर है। आज बिहार के गांवों और शहरों में बिजली की उपलब्धता पहले के मुकाबले कहीं ज्यादा दिखती है।

उन्होंने कहा जब मैं पहली बार प्रधानमंत्री बना था तब बिहार में एलपीजी की पहुंच केवल साढ़े 23 प्रतिशत थी, आज यह बढ़कर 76.9 प्रतिशत हो गयी है, मतलब छः वर्षों में 53 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। उज्जवला योजना से बिहार में करीब 84.91 लाख गैस कनेक्शन मिले हैं। आईओसी के बांका के एलपीजी बॉटलिंग संयंत्र से बिहार की रसोई गैस की मांग को पूरा करने में मदद मिलेगी। इस बॉटलिंग संयंत्र का निर्माण 131.75 करोड़ रुपये के निवेश से किया गया है। यह संयंत्र से बिहार के भागलपुर, बांका, जमुई, अररिया, किशनगंज और कटिहार जिलों के अलावा झारखंड के गोड्डा, देवघर, दुमका, साहिबगंज तथा पाकुड़ जिलों की जरूरतों को भी पूरा करेगा।

दुगार्पुर-बांका सेक्शन में पाइपलाइन बिछाने में कई प्राकृतिक और मानव निर्मित बाधाओं को पार करने की आवश्यकता थी।  इसके लिए कुल 154 क्रॉसिंग को पाटा गया और जिसमें 13 नदियां, पांच राष्ट्रीय राजमार्ग और तीन रेलवे क्रॉसिंग शामिल हैं।इस पूरी परियोजना के पूर्ण होने के बाद यह सुविधा पारादीप आयात टर्मिनल तथा बरौनी रिफाइनरी से भी उपलब्ध होगी।

बतादें कि सार्वजनिक क्षेत्र की इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन (आईओसी) द्वारा निर्मित 193 किलोमीटर की दुर्गापुर-बांका पाइपलाइन खंड पारादीप-हल्दिया-दुर्गापुर पाइपलाइन विस्तार परियोजना का हिस्सा है। प्रधानमंत्री ने 17 फरवरी, 2019 को इसका शिलान्यास किया था।

प्रधानमंत्री ने कहा बिहार और पूर्वी भारत विकास के मामले में दशकों पीछे छूट गया था। इसके पीछे वजह राजनीति और आर्थिक थी। एक समय था जब रोड कनेक्टिविटी, एयरवेज कनेक्टिविटी और इंटरनेट कनेक्टिविटी सरकारों की प्राथमिकताओं में था ही नहीं। सोंच में गड़बड़ी थी। आज देश के अनेकों शहरों में सीएनजी पहुंच रही है। अब बिहार और पूर्वी भारत के शहरों में लोगों सीएनजी और पीएनजी उपलब्ध हो रहा है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि हमारे उपर बिहार का कर्ज है। हम बिहार के हर एक क्षेत्र में विकास का प्रयास कर रहे हैं, ताकि बिहार विकास की नई उड़ान भरे। सार्थियों बिहार में कुछ लोग यह कहते थे कि तुम लोग पढ़ लिखकर क्या करोगे। तुम्हें तो खेत में ही काम करना है। ऐसे लोगों ने बिहार का बहुत नुकसान किया।

उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार ने नए भारत और नए बिहार के निर्माण में बड़ी भूमिका निभाई है। कहा कि बिहार कई सालों तक विकास के मामले में पीछे था। एक समय था जब सड़क व इंटरनेट कनेक्टिविटी जैसे विषयों पर बिहार में चर्चा नहीं होती थी। पहले एलपीजी गैस कनेक्शन बड़े व संपन्न घरों की निशानी होता था, लेकिन अब ये अवधारणा बदल चुकी है।

प्रधानमंत्री ने इन योजनाओं का किया शिलान्यास और उद्घाटन

रेलवे की इन 12 परियोजनाओं का उद्घाटन

  • सुपौल में कोसी नदी(निर्मल से सरायगढ़) पर बनेगा पुल-516 करोड़
  • सुपौल से असनपुर कुफा तक पहली ब्रॉडगेज ट्रेन सर्विस का उद्घाटन
  • वैशाली में हाजीपुर-घोसवार-वैशाली न्यू लाइन का उद्घाटन-450 करोड़
  • नालंदा में इस्लामपुर-नटेश्वर लाइन को हरी झंडी-409 करोड़
  • 170 करोड़ की लागत से बनेगा करनौती-बख्तियारपुर लिंक बायपास
  • समस्तीपुर-दरभंगा-जयनगर सेक्शन का होगा विद्युतीकरण-135 करोड़
  • समस्तीपुर-खगड़िया सेक्शन का होगा विद्युतीकरण-95 करोड़
  • शिवनारायणपुर-भागलपुर सेक्शन का होगा विद्युतीकरण-75 करोड़
  • मुजफ्फरपुर-सीतामढ़ी सेक्शन के विद्युतीकरण का होगा उद्घाटन-75 करोड़
  • कटिहार-न्यू जलपाईगुड़ी सेक्शन के विद्युतीकरण का होगा उद्घाटन-505 करोड़
  • बरौनी-इलेक्ट्रिक लोको शेड का होगा उद्घाटन-130 करोड़

पेट्रोलियम के तीन योजनाओं का शिलान्यास किया, ये योजनाएं इस प्रकार हैं

  • दुर्गापुर से बांका के बीच पाइपलाइन प्रोजेक्ट-634 करोड़
  • बांका में लगेगा एलपीजी बॉटलिंग प्लांट-14 करोड़
  • पूर्वी चंपारण के सुगौली में लगेगा नया एलपीजी प्लांट-136 करोड़

इसके अलावे आवास और शहरी योजनाओं का भी किया शिलान्यास –

  • पटना के बेऊर में बनेगा सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट-78 करोड़
  • पटना के करमलीचक में बनेगा सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट-74 करोड़
  • सीवान में वाटर सप्लाई स्कीम फेज-1 का उद्घाटन-41 करोड़
  • बक्सर और छपरा में वाटर सप्लाई स्कीम का उद्घाटन-84 करोड़

विदित हो कि विधानसभा चुनाव की आचार संहिता लागू होने के पहले तक प्रधानमंत्री बिहार में 16 हजार करोड़ की योजनाओं की शुरुआत करने जा रहे हैं। इस दौरान वे अलग-अलग कार्यक्रमों में लोगों से संवाद भी करेंगे। रविवार का कार्यक्रम इसी की कड़ी रही। इसके पहले प्रधानमंत्री ने गुरुवार को बिहार में मत्स्यपालन, पशुपालन व कृषि विभागों से जुड़ी 294 करोड़ रुपयों की योजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास किया था। विधानसभा चुनाव की घोषणा से पहले आगे भी प्रधानमंत्री 15, 18, 21 और 23 सितंबर को उदघाटन व शिलान्यास के कार्यक्रम करेंगे।

उद्घाटन समारोह मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी और केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान, केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री अश्विनी चौबे ने भी संबोधित करेंगे। राज्यपाल फागू चौहान भी वर्चुअल माध्यम से कार्यक्रम में शामिल हुए।

Leave a Reply