6 सितंबर को पहली वर्चुअल रैली के जरिए चुनावी बिगुल बजाएंगे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, देंगे 15 साल का हिसाब

पटना, एमएम : बिहार में विधानसभा चुनाव को लेकर चुनावी हलचल तेज हो गई है। सत्तारूढ़ पार्टी हो या विपक्ष दोनों मतदाता को अपने तरफ लुभाने के लिए हर कोशिश आजमा रहे हैं। ऐसे में सत्तारूढ़ जदयू भी कैसे पीछे रहती। जदयू ने कोरोना काल में चुनावी जनसंपर्क का सुरक्षित रास्ता तलाशा है। पार्टी ने एक बार में 10 लाख लोगों को लाइव जोड़ने वाला ऑनलाइन प्लेटफॉर्म jdulive.com बनाया है। जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष व मुख्यमंत्री नीतीश कुमार 6 सितंबर को इसी प्लेटफॉर्म से अपनी पहली वर्चुअल रैली करेंगे। यह जदयू के फेसबुक, ट्विटर हैंडल तथा यू ट्यूब, टीवी न्यूज चैनल पर भी प्रसारित होगा। पार्टी ने इसे जनसंवाद का नाम दिया है। बतादें कि नीतीश कुमार की वर्चुअल रैली 7 अगस्त को होने वाली थी। किंतु कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए इसे रद्द कर दिया गया था। अब 6 सितंबर की नई तारीख आई है।

जदयू के राष्ट्रीय महासचिव रवींद्र प्रसाद सिंह के अनुसार हमने व्यापक ऑनलाइन प्लेटफॉर्म jdulive.com बनाया है। यह देश का पहला समर्पित वर्चुअल रैली प्लेटफॉर्म है। इसकी क्षमता एक बार में 10 लाख दर्शकों को लाइव जोड़ने की है। चूंकि चुनाव कोरोना काल में हो रहा है, सो हमने जनसंपर्क के लिए लीक से हटकर समाधान तलाशा है। वहीं मंत्री अशोक चौधरी ने कहा कि रैली में नीतीश कुमार लोगों को खासकर यह बताएंगे कि उनकी सरकार ने 15 साल के दौरान बिहार की बेहतरी के लिए क्या-क्या किया और आगे क्या सब करने की योजना है?

गौरतलब है कि जदयू नेताओं ने जुलाई महीने में पार्टी पदाधिकारियों के साथ हर स्तर पर वर्चुअल सम्मेलन किया था। इस दौरान सात से 15 जुलाई तक पार्टी ने अपने विभिन्न प्रकोष्ठ के कार्यकर्ताओं और नेताओं के साथ वर्चुअल सम्मेलन किया था। इसके साथ ही 16 जुलाई को पार्टी के सभी क्षेत्रीय प्रभारी, जिलाध्यक्ष, जिला संगठन प्रभारी, प्रदेश एवं जिला पार्टी द्वारा नामित विधानसभा प्रभारी और प्रकोष्ठों के प्रदेश अध्यक्षों के साथ वरिष्ठ नेताओं की वर्चुअल बैठक हुई थी। वही 18 से 31 जुलाई के बीच विधानसभावार वर्चुअल सम्मेलन का आयोजन किया गया था।

Leave a Reply