नीतीश सरकार का चुनावी फैसला: एससी-एसटी परिवार के किसी शख्स की हत्या तो एक सदस्य को मिलेगी सरकारी नौकरी

पटना, एमएम : बिहार में विधानसभा चुनाव होने हैं। लिहाजा अब सरकार के पास बहुत कम समय बचा है। अब बिहार सरकार चुनाव को ध्यान में रख लोक लुभावन फैसले कर रही है। ताकि चुनाव में हरेक वर्ग को साधा जा सके और उनका वोट प्राप्त हो सके। इसी कड़ी में बिहार सरकार ने अनुसूचित जाति-जनजाति यानी एससी-एसटी के लिए एक बड़ा फैसला लिया है। इस जमात के किसी व्यक्ति की हत्या होने पर उसके परिवार के एक सदस्य को नौकरी मिलेगी। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अफसरों को इसके लिए तत्काल कानून बनाने को कहा है। शुक्रवार को अनुसूचित जाति-अनुसूचित जनजाति (अत्याचार निवारण) अधिनियम 1995 के तहत गठित राज्यस्तरीय सतर्कता एवं मानीटरिंग कमेटी की बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। उन्होंने अफसरों को कई निर्देश दिए।

मुख्यमंत्री ने एससी-एसटी कल्याण विभाग के सचिव से कहा कि लंबित कांडों का निष्पादन 20 सितम्बर 2020 तक हर हाल में पूरा करें। संबंधित विभागों के सचिवों से सम्पर्क कर मामले का त्वरित निष्पादन हो। इन्वेस्टिगेशन का काम तेजी से पूरा हो। जो पदाधिकारी मामलों के निष्पादन में गंभीरता नहीं दिखाते, उन पर कार्रवाई करें।

थानों में बने लॉ एंड ऑर्डर और इन्वेस्टिगेशन के लिए अलग-अलग विंग का सकारात्मक नतीजा निकलना ही चाहिए। जो विशेष लोक अभियोजक अपने दायित्वों का ठीक से निर्वहन नहीं कर रहे हैं, उन्हें मुक्त करें।

सीएम ने कहा कि बैठक में जनप्रतिनिधियों ने अहम सुझाव दिए हैं। इस पर त्वरित कार्रवाई हो। राशन कार्ड वितरण, बिना जमीन वाले सभी एससी-एसटी परिवारों को घर के लिए जमीन देना, उनका आवास निर्माण जैसे कामों में तेजी हो। डीजीपी, सभी थानों में दर्ज कांडों की समीक्षा स्वयं थानावार करें।

नीतीश ने कहा कि इस वर्ग के कल्याण के लिये हर जरूरी कार्य किये जा रहे हैं। उनको मुख्य धारा में जोड़ने के लिए अन्य संभावनाओं, योजनाओं पर भी विचार किया जाए। जो कुछ भी करने की जरूरत होगी, उनके लिये सब कुछ किया जायेगा। इनके उत्थान से समाज का उत्थान होगा।

वही जेडीयू में शामिल होने के बाद पहली बार बैठक में शामिल होनेवाले हिन्दुस्तानी आवाम मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी ने कहा है कि एससीएसटी की धारा 3(2)5 को पूरे देश में लागू किया जाए। उन्होंने कहा कि धारा लागू होने से एससी-एसटी परिवार के किसी सदस्य की हत्या होने पर परिवार के सदस्य को मिलेगी सरकारी नौकरी मिलेगी। उन्होंने कहा कि एससीएसटी एक्ट की धारा 3(2)5 को लागू करने के लिए नीतीश सरकार के फैसले स्वागत करते हैं।

Leave a Reply