जेपी नड्डा और नीतीश कुमार के मुलाकात के बाद चिराग के तेवर पड़े ढीले, बोले हम पूरी तरह राजग के साथ

दिल्ली/पटना, एमएम : बिहार में आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर राजनीतिक ध्रुवीकरण चल रहा है। बिहार के दोनों प्रमुख गठबंधन में आतंरिक क्लेश शुरू है। सीट को लेकर भी तकरार बरकरार है। ऐसे में एनडीए में लोजपा और जदयू के बीच चल रही रार किसी से छिपी नहीं है। लेकिन शनिवार को भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा और जदयू  के अध्यक्ष नीतीश कुमार के बीच चलि करीब एक घंटे के मुलाकात के बाद लोजपा के तेवर में कमी देखने को मिली है।

लोजपा अध्यक्ष चिराग पासवान के तल्ख तेवर की वजह से एनडीए में मची उथल पुथल पर अब विराम लगता दिख रहा है। लोजपा अध्यक्ष चिराग पासवान ने साफ कहा कि भाजपा का हर फैसला हमें मंजूर है। भाजपा के शीर्ष नेतृत्व पर मुझे पूरा भरोसा है और पार्टी जो भी फैसला लेगी उसमें हम साथ खड़े रहेंगे। बतादें कि भाजपा पहले ही कह चुकी है कि नीतीश के गठबंधन में बिहार विधानसभा का चुनाव लड़ेंगे, हम इसके साथ हैं।

बतादें दिन कि शनिवार को भी जेपी नड्डा ने भाजपा के आत्मनिर्भर  बिहार कार्यक्रम के दौरान भी कहा था कि लोजपा कहीं नहीं जाएगी। वो एनडीए का हिस्सा है और साथ मिलकर चुनाव लड़ेगी। इधर सीटों के बंटवारे पर नाराजगी को लेकर चिराग ने कहा कि लोजपा के किसी नेता की भाजपा और जदयू के साथ अभी बात नहीं हुई है। सीट शेयरिंग के लिए पहली राउंड की बैठक भी नहीं हुई है। मेरी लड़ाई सीटों को लेकर नहीं है। बैठकर इस मसले को सुलझाया लिया जाएगा। इस सवाल पर कि क्या गठबंधन में रहेंगे या छोड़ेंगे, चिराग ने कहा कि अभी तक इस पर फैसला नहीं हुआ है।

नीतीश से चल रहे विवाद को लेकर लोजपा अध्यक्ष ने साफ कहा कि मैं किसी को टेंशन नहीं दे रहा। मैं सिर्फ अपनी बातों को रख रहा हूं। एक बिहारी होने के नाते पूरे बिहार का भ्रमण किया और इस दौरान जो भी समस्याएं सामने आई उसे मैंने मुख्यमंत्री के सामने रखा। नीतीश कुमार बिहार के मुखिया हैं और परेशानी उनके सामने नहीं रखूंगा तो किसके सामने रखूंगा। किसी को लगता है कि अपनी समस्याओं को समाने रखना मुख्यमंत्री की परेशानी बढ़ाना है तो यह गलत है। मेरी ऐसी कोई मंशा नहीं है। अब कयास लगाए जा रहे हैं कि चिराग कोई बड़ा सियासी फैसला ले सकते हैं।

Leave a Reply