बिहार में बेरोजगारी चरम पर, सुशासन के नाम पर लोगों को छल रहे हैं नीतीश कुमार : पप्पू यादव

पटना, एमएम : बिहार में चुनाव होने वाला है। राजनीतिक पार्टियां जोर शोर से चुनावी तैयारियों में जुट गई है। ऐसे में जन अधिकार पार्टी भी लोगों से संवाद कायम कर रही है। जन संवाद के दौरान ही जन अधिकार पार्टी (लो) के राष्ट्रीय अध्यक्ष पप्पू यादव ने सत्ता पक्ष पर तीखा हमला बोला है। उन्होंने कहा कि बिहार में गरीबी और बेरोजगारी चरम पर है। फिर भी नीतीश कुमार सुशासन के नाम पर लोगों को छल रही है। बिहार गरीबी में 26वें और भूख में 25वें स्थान पर है। इसके अलावा बेरोजगारी और शिक्षा में भी बिहार सबसे निचले पायदान पर पहुंच गया है. उन्होंने कहा कि इन लोगों ने मिलकर बिहार में बेरोजगारी को 46 फीसदी से ऊपर पहुंचा दिया है। लोंगों के पास खाने के लिए अनाज नहीं हैं। बाढ़ और कोरोना ने आम जीवन को तबाह कर दिया हैं। आपदा के समय घरों से नहीं निकलने वाले लोग अपना पीठ खुद थपथपा रहे है। अपने मुंह मियां मिट्ठू बनने की कोशिश में नितीश कुमार खुद को ही क्विंटलिया बाबा कहने में लगे हैं। बेरोजगारी के कारण गरीबी और भूख से तड़प रही जनता के लिए इससे भद्दा मजाक नहीं हो सकता।

रोजगार के मुद्दे पर पप्पू यादव ने सरकार को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि आईटीआई के करीब चालीस लाख बच्चे आज बेरोजगार हैं। सात निश्चय के तहत जो आईटीआई की बात हुई थी उसमें ना भवन है, ना प्रशिक्षण है, ना ट्रेनर। भगवान भरोसे ही बच्चों का भविष्य छोड़ दिया है। लाखों लोग बाढ़ में परेशान हैं उसपर चर्चा तक नहीं करते। करीब 26 डॉक्टर हाल के दिनों में मरे हैं, उनकी बात भी नहीं हुई है.

पप्पू यादव ने कहा कि नीतीश सरकार में योजना पर सिर्फ खर्च होता है, जमीनी काम कुछ नहीं होता है। पप्पू यादव ने सत्ता पक्ष पर अवसरवादी राजनीती  करने का भी आरोप लगाया और कहा कि समय समय पर उन्होंने नेताओं को इस्तेमाल किया है। पप्पू यादव ने कहा कि ये चुनाव आर-पार की लड़ाई की घोषणा है।

वहीं गुरुवार को मुजफ्फरपुर दौरे के तहत जिला के साहेबगंज विधानसभा के बंगरा निजावत पंचायत के पकड़ी गांव निवासी मंटू तिवारी के पीवर से मिल कर उनको सांत्वना दी और पीड़ित परिवार को भरोसा दिलाया कि इस घटना को लेकर हम बिहार के डीजीपी से मुलाकात करेंगे और इस मामले को जल्द से जल्द स्पीडी ट्रायल करके दोषियों को सजा दिलवाने की भरपूर कोशिश करेंगे। बतादें कि पिछले दिनों कुछ दबंगों ने मंटू तिवारी को पेड़ में बांधकर पीट-पीटकर हत्या कर दी थी। उनके परिवार में उनकी पत्नी के अलावे तीन छोटी बेटी और एक बेटा है।

उन्होंने नीतीश के सुशासन की दावों पर भी हमला बोलते हुए  कहा कि सुशासन के नाम पर  सिर्फ लोगों के साथ छलावा हो रहा है। बिहार में अपराध बढ़ता ही जा रहा है।  अपराधी तो अपराधी, अब पुलिस भी आम लोगों की हत्या को तत्पर है। तभी तो सीतामढ़ी के नागेश्वर यादव जी परिवार आज इस हाल में है। बतादें कि पप्पू यादव अपने सीतामढ़ी दौरे के दौरान नागेश्वर के परिवार से मिले थे और उनके परिवार को एक लाख रूपये का आर्थिक सहयोग भी दिया था।

गौरतलब है कि पप्पू यादव जाप के सदस्यता अभियान के तहत विभिन्न जिलों का दौरा कर रहे हैं। गुरुवार को भी जाप नेता राजू दानवीर ने जदयू और मानववादी पार्टी के कुछ पदाधिकारियों को प्रदेश कार्यालय में पार्टी की सदस्यता दिलाई।

Leave a Reply