सुशांत की मौत को भाजपा ने बनाया चुनावी मुद्दा, छपवाया स्टीकर

पटना, एमएम :  अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत के मौत के मामले की जांच सीबीआई कर रही है। इतना ही नहीं इस केस में एनसीबी और ईडी जैसी एजेंसी भी जांच में जुटी है। इस मामले में ड्रग्स कनेक्शन की बात सामने आने के बाद लगातार पूछताछ और सबूत इकट्ठे किए जा रहे हैं। बिहार में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं। इस बात की आशंका पहले से ही जताई जाती रही थी कि सुशांत के नाम पर कहीं राजनीति तो परवान नहीं चढ़ रही। अब भारतीय जनता पार्टी ने बिहार में विधानसभा चुनाव को लेकर जो नया स्टीकर जारी किया है वह इस बात की ओर संकेत दे रहा है कि सुशांत के मामले पर राजनीति भी आगे बढ़ रही है।

दरअसल बिहार भाजपा के कला एवं संस्कृति प्रकोष्ठ ने सोशल मीडिया पर एक स्टीकर जारी है। इस स्टीकर पर सुशांत की तस्वीर के साथ भारतीय जनता पार्टी का चुनाव चिन्ह भी दिया गया है। साथ ही साथ ‘ना भूले हैं, ना भूलने देंगे’ का नारा देते हुए जस्टिस फॉर सुशांत लिखा गया है। इतना ही नहीं भाजपा की तरफ से ना केवल सुशांत की तस्वीर वाला स्टीकर बल्कि उनके चेहरे की मुस्कुराहट वाला मास्क भी बनवाया गया है।

बिहार बीजेपी के कला एवं संस्कृति प्रकोष्ठ के नेता वरुण कुमार सिंह ने अपने टि्वटर हैंडल पर लिखा है कि वह बिहार भाजपा के कला एवं संस्कृति प्रकोष्ठ के महामंत्री हैं। उन्होंने लिखा है कि पूरे बिहार में ऐसे 30 हजार स्टीकर लगाए जाएंगे। हालांकि  वह कहते हैं कि इसे राजनीतिक से जोड़कर नहीं देखना चाहिए।

बरुण कुमार सिंह का कहना है कि सुशांत सिंह राजपूत को न्याय दिलाने के लिए वह पिछले 16 जून से ही अभियान चला रहे हैं। उन्होंने कहा कि कि 14 जून की घटना के बाद से सुशांत को इंसाफ दिलाने के लिए उनके अलावा करणी सेना ने भी स्टीकर और मास्क बनाकर लोगों को बांटा है। उनका कहना है कि विपक्ष इसे राजनीति से जोड़कर सुशांत को न्याय दिलाने की मुहिम से जुड़े हम जैसे लोगों की भावना पर चोट कर रहा है।

अभी तक परिवार की ओर से इस मामले में कोई प्रतिक्रिया सामने नहीं आई है। बतादें कि सुशांत सिंह के चचेरे भाई नीरज सिंह बबलू सुपौल के छातापुर से भाजपा  के विधायक हैं। लिहाजा देखने वाली बात होगी कि आने वाले चुनाव में इस मुद्दे को भाजपा कितना भुना पाती है।

Leave a Reply