भारत-चीन सीमा पर शहीद हुए जवानों के परिजनों को मिलेगा 36-36 लाख रुपये और एक आश्रित को मिलेगी सरकारी नौकरी : नीतीश कुमार

पटना, एमएम : भारत चीन सीमा पर हुए हिंसक झड़प में बिहार के पांच लाल शहीद हो गए। इन शहीदों का पार्थिव शरीर पटना एयरपोर्ट पर लाया गया। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने गुरुवार को पटना एयरपोर्ट पर भारत-चीन सीमा पर स्थित गलवान घाटी में शहीद हुए भोजपुर जिले के ज्ञानपुरा, जगदीशपुर निवासी सिपाही चंदन कुमार, सहरसा जिले के ग्राम आरन निवासी सिपाही कुंदन कुमार, समस्तीपुर जिले के ग्राम सुल्तानपुर पूरब, पटोरी निवासी अमन कुमार, वैशाली जिले के ग्राम जनसाहा निवासी सिपाही जयकिशोर तथा साहेबगंज, झारखंड निवासी कुंदन कुमार ओझा के पार्थिव शरीर पर पुष्प-चक्र अर्पित कर उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि दी तथा दिवंगत आत्मा की शांति के लिए ईश्वर से प्रार्थना की।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भारत-चीन सीमा पर हुई झड़प में बिहार निवासी पांच शहीदों चंदन कुमार, कुंदन कुमार, अमन कुमार, जयकिशोर एवं सुनील कुमार के शहादत के सम्मान में इनके परिजनों को राज्य सरकार की ओर से 11-11 लाख रुपये अनुग्रह अनुदान देने की घोषणा की है।

इतना ही नहीं मुख्यमंत्री ने कहा है इसके अतिरिक्त मुख्यमंत्री राहत कोष से पांचों शहीदों के परिवार को 25-25 लाख रुपये दिये जायेंगे साथ ही  पांचों शहीदों के परिवार से एक-एक आश्रित को राज्य सरकार द्वारा नौकरी भी दी जायेगी। एयरपोर्ट पर उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी, नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी प्रसाद यादव के साथ ही सरकार के कई विभागों के मंत्री और पुलिस तथा सेना के वरीय पदाधिकारियों ने भी अपनी भावभीनी श्रद्धांजलि दी। बतादें कि लोजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान ने भी बिहार सरकार से शहीदों के एक परिजन को नौकरी देने का अनुरोध किया था।

Leave a Reply