राम मंदिर भूमि पूजन के पहले लॉक होगी अयोध्या, तीन अगस्त से बाहरी लोगों की इंट्री पर रोक

लखनऊ, एमएम : तीन अगस्त से अयोध्या में किसी भी बाहरी व्यक्ति के प्रवेश पर रोक रहेगी। यह फैसला अयोध्या पहुंचे मुख्य सचिव, डीजीपी और अपर मुख्य सचिव गृह की अध्यक्षता में हुई बैठक में लिया गया। उच्च पदस्थ पुलिस सूत्रों ने बताया है कि यह फैसला कोरोना संक्रमण के साथ ही सुरक्षा बंदोबस्त के मद्देनज़र किया गया है।

रामजन्मभूमि में विराजमान रामलला के मंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन करने आ रहे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सुरक्षा व्यवस्था को लेकर शुक्रवार को मुख्य सचिव राजेन्द्र तिवारी और डीजीपी हितेश चन्द्र अवस्थी अयोध्या पहुंचे। अधिकारियों ने कार्यक्रम स्थलों का निरीक्षण किया। इसके साथ कलेक्ट्रेट सभागार में आला अफसरों की बैठक में सुरक्षा के लिए ब्लूप्रिंट तैयार किया गया।

बैठक में तीन अगस्त को पड़ने वाली श्रावणी पूर्णिमा के पर्व को लेकर भी विचार किया गया। दरअसल, इस पर्व के मौके पर  बाहरी श्रद्धालुओं की भीड़ जुटती है। तय किया गया कि भीड़ अगर प्रवेश करेगी और यहीं रुक गई तो पांच अगस्त को अव्यवस्था हो सकती है। कोरोना संक्रमण के काल में भीड़ की जुटान ठीक नहीं होगी। लिहाजा, तीन अगस्त से उन्हें रोकने की प्रक्रिया लागू करने पर सहमति बनी। तय किया गया कि इससे स्थानीय लोगों को कोई दिक्कत न हो, नतीजतन उन्हें आई कार्ड दिखाने के बाद ही अयोध्या में प्रवेश दिया जाएगा।

इस व्यवस्था को तीन अगस्त से लागू कर दिया जाएगा। पीएम के कार्यक्रम एवं गर्भगृह स्थल की सुरक्षा व्यवस्था पर विचार विमर्श किया। इसके बाद रामजन्मभूमि की स्थाई सुरक्षा समिति की त्रैमासिक बैठक भी हुई। इस बैठक की अध्यक्षता एडीजी सुरक्षा ने ही परम्परागत रीति से करते हुए सुरक्षा के मानकों के साथ व्यवस्थाओं की समीक्षा भी की।  इस मौके पर उन्होंने यलो जोन की सुरक्षा व्यवस्था को फूलप्रूफ बनाने पर जोर दिया गया।

बतादें कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की ओर से श्रीरामजन्मभूमि मंदिर के भूमिपूजन के प्रस्तावित कार्यक्रम को लेकर प्रशासनिक व पुलिस अमला बेहद सतर्क हो गया है। अयोध्या में बाहरी व्यक्तियों के प्रवेश पर तीन अगस्त से पाबंदी लगा दी गई है। पहचान पत्र  के अभाव में किसी को भी प्रवेश की इजाजत नहीं होगी।

सभी बैरियरों पर सुरक्षा घेरा बेहद सख्त है लेकिन प्रशासनिक एवम पुलिस अफसरों की ओर से तैयार किए गए सुरक्षा व्यवस्था के अनुसार यह प्रतिबंध श्रावणी पूर्णिमा पर्व तक ही नहीं वरन आगे भी चार व पांच अगस्त को लागू रहेगा।

Leave a Reply