कोरोना शक के कारण आयकर विभाग के अधिकारी ने की आत्महत्या, रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद भी दिल में था कोरोना का खौफ

नई दिल्ली, एमएम : दिल्ली में कोरोना संक्रमण दिन प्रतिदिन बढ़ता ही जा रहा है। दिल्ली मे जिस कदर रोगियों की संख्या मे इजाफा हो रहा है, लोगों का डरना भी लाजमी है। कोरोना वायरस संक्रमण का खौफ लोगों को इस कदर परेशान करने लगा है कि लोग जान तक देने पर उतारु हो गए हैं। ताजा मामला दिल्ली से सामने आया है। यहां के द्वारका साउथ थाना क्षेत्र में एक आइआरएस अधिकारी ने कोरोना के डर से आत्महत्या कर ली।

आत्महत्या करने वाले अधिकारी का नाम शिवराज है। वह 2006 बैच के आईआरएस अधिकारी थे और आयकर विभाग में तैनात थे। उनका शव उनकी गाड़ी में संदिग्ध हालत में मिला है और उनके पास से पुलिस ने एक सुसाइड नोट बरामद किया है, जिसमें उन्होंने खुद को कोरोना होने का जिक्र किया है। हालांकि, कुछ दिन पहले ही उनकी कोरोना की रिपोर्ट नेगेटिव आई थी।

पुलिस के अनुसार, पिछले दिनों उन्होंने अपना कोविड टेस्ट कराया था जिसमे उनके रिपोर्ट नेगेटिव आई थी, बावजूद उन्हें डर था कि उन्हें कोरोना है और संक्रमण की जद में परिवार के अन्य सदस्य भी आ सकते हैं, इसलिए वे काफी परेशान रहते थे।

जानकारी के मुताबिक आइआरएस अधिकारी शिवराज अपने परिवार के साथ द्वारका सेक्टर-6 में रहते थे और उनकी तैनाती आरके पुरम में थी। कई दिनों से उनकी तबीयत खराब चल रही थी। रविवार को वह अपनी गाड़ी लेकर बाहर निकले थे, लेकिन देर शाम तक घर नहीं लौटे। इसके बाद उनकी तलाश शुरू हुई, तो घर से कुछ दूरी पर उनकी गाड़ी मिली। गाड़ी की पिछली सीट पर अधिकारी बेसुध पड़े हुए थे, तुंरत अस्पताल पहुंचाया गया। जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर अस्पताल प्रशासन ने पुलिस को सूचना दी।

मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर जांच शुरू कर दी है। पुलिस ने बताया कि प्राथमिक जांच में सामने आया है कि अधिकारी ने गाड़ी की बैटरी में मौजूद एसिड पीकर आत्महत्या की है। एसिड पीने के बाद जब उन्हें दर्द होने लगा तब उनपर गार्ड की नजर पड़ी। गार्ड ने देखा तो मामले की जानकारी परिजनों को दी। सभी उन्हें लेकर अस्पताल ले गए। फिलहाल पुलिस सुसाइड नोट और मौत के कारणों का पता लगा रही है।

Leave a Reply